सूरजपुर के थप्पड़बाज कलेक्टर को छत्तीसगढ़ की कांग्रेसी सरकार ने मंत्रालय में बनाया संयुक्त सचिव

सड़क पर गुंडागर्दी करने वाले छत्तीसगढ़ के सूरजपुर के कलेक्टर रणवीर शर्मा को हटा दिया गया है, हैरानी की बात यह है कि कलेक्टर को अब मंत्रालय में संयुक्त सचिव बना दिया गया है । यानी यह केवल एक स्थानांतरण है. न बर्खास्तगी है, न ही निलंबन और न ही कोई विभागीय जांच। छत्तीसगढ़ की कांग्रेसी सरकार की इस कार्यवाही से लोग हैरान हैं.

लोगों का कहना है कि खुलेआम नाबालिग पर थप्पड़ चलाने वाले DM रणबीर शर्मा को मंत्रालय में संयुक्त सचिव के तौर पर स्थानांतरित किया गया है. यह इंसाफ नहीं है, जिस तरह मासूम को सरेआम थप्पड़ मारा गया, उस तरह ना सही लेकिन कानून के मुताबिक DM पर FIR होनी चाहिए, तब जाकर इंसाफ होगा, जनता के बीच संदेश जाएगा।

थप्पड़बाज कलेक्टर रणवीर शर्मा का वीडियो वायरल हुआ, फजीहत हुई, अंत में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कार्यवाही के नाम पर कलेक्टर साहब को स्थानांतरित करते हुए तत्काल प्रभाव से मंत्रालय में संयुक्त सचिव के पद पर भेजा गया है, जिस कलेक्टर ने बीच सड़क पर नाबालिग की पिटाई की, लठ से पिटवाया, पटककर फोन तोड़ दिया गया, कार्यवाही के नाम पर सिर्फ उसका ट्रांसफर हुआ.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें सूरजपुर के कलेक्टर/डीएम/जिलाधिकारी ने न सिर्फ एक बच्चे को थप्पड़ जड़ा बल्कि पुलिस से भी पिटवाया, नाबालिग लॉकडाउन में दवा लेने के लिए मेडिकल स्टोर पर जा रहा था, तभी गश्त पर निकले कलेक्टर साहब ने रुकवाया, उसका मोबाइल अपने हाथ में लिया और पटक दिया, फिर उसके बाद थप्पड़ जड़ा और फिर पुलिस से पिटवाया।