कोविड टीके और उसके आयात को लेकर भ्रम फैला रहा विपक्ष, भाजपा ने बोला विपक्ष पर हमला

sambit-patra-rahul-gandhi-50-saal-ka-nasamajh-bachcha

भारतीय जनता पार्टी ने विपक्ष पर कोविड टीके और उसके आयात को लेकर भ्रम पैदा करने का आरोप लगाया है। एक वर्चुअल संवाददाता सम्‍मेलन में भाजपा प्रवक्‍ता संबित पात्रा ने कहा कि भारत सरकार टीके के आयात के लिए पिछले वर्ष के मध्‍य से ही पूरे प्रयास कर रही है। उन्‍होंने कहा कि सरकार की लगातार बातचीत का ही परिणाम है, रूस का स्‍पुतनिक टीका भारत पहुंचा। श्री पात्रा ने कहा कि रूसी टीके का भारत में उत्‍पादन डॉ0 रेड्डी लैब के साथ बढ़ाया जाएगा।

उन्‍होंने कहा कि भारत बायोटेक के पास अपना लाइसेंस है और केन्‍द्र ने इस लाइसेंस को तीन और कंपनियों के साथ साझा करने का फैसला किया ताकि को-वैक्‍सीन टीके का उत्‍पादन बढ़ाया जा सके। श्री पात्रा ने कहा कि भारत बायोटेक वर्तमान में एक करोड़ टीका प्रति माह बना रही है जो अक्‍टूबर तक दस करोड़ प्रति माह पहुंच जाएगा। भाजपा प्रवक्‍ता ने कहा कि टीका उत्‍पादन बढ़ाने के लिए भारत सरकार कोविड सुरक्षा योजना के अंतर्गत कुछ और कंपनियों को उदार आर्थिक सहायता दे रही है।

पात्रा ने कहा कि दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल यह कह कर भ्रम पैदा कर रहे हैं कि सरकार बच्‍चों के लिए टीके नहीं दे रही है। उन्‍होंने कहा कि टीकाकरण एक वैज्ञानिक प्रक्रिया है और विश्‍व में कहीं भी बच्‍चों को टीका अभी नहीं लगाया जा रहा है। श्री पात्रा ने कहा कि केन्‍द्र ने दिल्‍ली को 45 लाख से अधिक टीके मुफ्त में उपलब्‍ध करवाए हैं।

उन्‍होंने कहा कि दिल्‍ली सरकार ने आठ लाख टीकों की खरीद सीधे कंपनियों से की है। श्री पात्रा ने कहा कि निजी अस्‍पतालों ने अपने स्‍तर पर दिल्‍ली सरकार की खरीद से अधिक नौ लाख टीके खरीदे हैं। श्री पात्रा ने कहा कि दिल्‍ली में अब तक 52 लाख लोगों को टीका लगाया गया है जिसमें से दिल्‍ली सरकार ने मात्र 13 प्रतिशत लोगों का टीकाकरण अपने स्‍तर पर किया है।