सपा नेता ने कहा था वैक्सीन लगवाने वाले नपुंसक हो सकते हैं, क्या IMA इसपर मुकदमा ठोंकेगा?

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ( IMA ) ने पतंजलि निदेशक और योगऋषि स्वामी रामदेव को 1000 करोड़ का मानहानि का नोटिस भेजा है और 15 दिनों के अंदर माफ़ी मांगने को कहा है. बाबा रामदेव द्वारा एलोपैथी के बारे में की गई टिप्पणी के बाद, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) – उत्तराखंड ने योग गुरु बाबा रामदेव को ₹1000 करोड़ का मानहानि नोटिस भेजा है।

सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि बाबा रामदेव ने एलोपैथी के बारें में दो शब्द बोल क्या दिया, IMA को मिर्ची लग गई और एक हजार करोड़ का मानहानि का नोटिस भेज दिया, क्या IMA उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी के विधान पार्षद आशुतोष सिन्हा पर भी मुकदमा ठोंकेगा जिन्होंने वैक्सीन की खिलाफत करते हुए कहा था, कोरोना का टीका लगाकर सरकार जनसंख्या कम करना चाह रही है, वैक्सीन से लोग नपुंसक बन सकते हैं।

आपको बता दें कि शनिवार बीते जनवरी महीनें में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा था कि मैं बीजेपी की वैक्‍सीन पर कैसे भरोसा कर सकता हूं, जब हमारी सरकार बनेगी तो सभी को फ्री में टीका लगेगा। हम बीजेपी की वैक्‍सीन नहीं लगवा सकते। इसके बाद समाजवादी पार्टी के एमएलसी आशुतोष सिन्हा ने कहा, सकता है कोरोना वैक्सीन में कुछ ऐसा हो जिससे आबादी कम करने या नपुंसक बनाने की कोशिश की जाए। सपा एमएलसी ने कहा कि अखिलेश यादव ने जो कहा है वह सही है, सिर्फ समाजवादी पार्टी के ही लोग नहीं बल्कि पूरे प्रदेश के लोगों को वैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए।