शहाबुद्दीन के मरनेँ पर मुझे कोई अफ़सोस नहीं, अफ़सोस करूंगी तो करोड़ों बिहारियों का अपमान होगा: पुष्पम प्रिया

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल ( आरजेडी ) के पूर्व सांसद और दुर्दांत अपराधी शहाबुद्दीन की मौत हो गई, मिली जानकारी के मुताबिक, शहाबुद्दीन कोरोना से संक्रमित था. दिल्ली की तिहाड़ जेल में उम्रकैद की साज काट रहे शहाबुद्दीन को कोरोना संक्रमित होनें के बाद दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

बिहार की नेता पुष्पम प्रिया चौधरी ने ट्वीट कर कहा है कीं शहाबुद्दीन के मरनेँ पर मुझे कोई अफ़सोस नहीं, अगर अफ़सोस करूंगी तो करोड़ों बिहारियों का अपमान होगा, प्लूरल्स पार्टी की मुखिया पुष्पम प्रिया चौधरी ने अपने ट्वीट में लिखा, हमारी संपूर्ण पीढ़ी ने बाहर बिहारियों के “गुंडा और क्रिमिनल” होने का आक्षेप झेला है। आज अगर मैं इसके एक प्रतीक के जेल में मौत पर अफ़सोस ज़ाहिर करूँगी तो यह करोड़ों बिहारियों का अपमान होगा। मुझे कोई अफ़सोस नहीं है। फ़ुल स्टॉप। #Shahabuddin

आपको बता दें कि साल 2004 में शहाबुद्दीन और उनके गुर्गों ने एक व्यापारी के दो नौजवान बेटों को तेजाब से नहलाकर ह्त्या कर दी थी, इसी मामलें में शहाबुद्दीन उम्रकैद की सजा काट रहा था, बिहार में इस हत्याकांड को ‘सीवान तेजाब कांड’ नाम से जाना जाता है। दोनों लड़कों की हत्‍या रंगदारी न देने चलते की गई थी। 16 अगस्त 2004 को कारोबारी चन्द्रकेश्वर प्रसाद उर्फ चंदा बाबू के दो बेटों- गिरीश और सतीश का उनकी दुकान से अपहरण किया गया था। इसके बाद उन्‍हें सीवान के प्रतापपुर गांव ले जाया गया, जहां तेजाब डालकर उनकी हत्या कर दी गई थी।

शाहबुद्दीन की मौत पर दुःख व्यक्त करते हुए आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा, पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन का कोरोना संक्रमण के कारण असमय निधन की दुःखद ख़बर पीड़ादायक है। ईश्वर उनको जन्नत में जगह दें, परिवार और शुभचिंतकों को संबल प्रदान करें। उनका निधन पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति है। दुख की इस घड़ी में राजद परिवार शोक संतप्त परिजनों के साथ है।