CM हेमंत सोरेन के इस ट्वीट पर मचा बवाल, वकील पटेल बोले- शराब के नशे में ऐसा ट्वीट करवा दिया होगा

झारखंड के अस्पताल दम तोड़ रहे हैं, अस्पताल में बेड्स, ऑक्सीजन और जीवनरक्षक दवाएं न होने के कारण मरीजों को लौटाया जा रहा है, हर जगह से विलाप की तस्वीरें आ रही हैं, जबकि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन कोरोना संकट काल में भी राजनीति करने से नहीं बाज आ रहे हैं. हेमंत सोरेन के वक ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया पर उनकी जमकर लताड़ लगाई जा रही है.

दरअसल झारखंड की जनता का हाल-चाल लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीएम हेमंत सोरेन को फोन किया, लेकिन सीएम सोरेन ने इसे राजनीति से जोड़ दिया, उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, आज आदरणीय प्रधानमंत्री जी ने फोन किया। उन्होंने सिर्फ अपने मन की बात की। बेहतर होता यदि वो काम की बात करते और काम की बात सुनते।

हेमंत सोरेन के इस ट्वीट पर अब सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत पटेल ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि शराब के नशे में उन्होंने ऐसा ट्वीट करवा दिया होगा, पटेल ने अपने ट्वीट में लिखा, हे प्रभु इन्हें ( हेमंत सोरेन ) क्षमा करिये। इनकी कोई गलती नहीं है। शराब के नशे में गलती से इन्होंने ऐसा ट्वीट करवा दिया होगा? जिस राज्य का मुख्यमंत्री अपने यौवन काल में कदम रखते ही शराबी, बलात्कारी हो जाय, उससे प्रधानमंत्री जी आप क्या उम्मीद करते हैं?

वकील प्रशांत पटेल ने आगे लिखा, यह हम नहीं, मुंबई की अल्पसंख्यक समुदाय की माडल 2013 से कह रही है, जिसके साथ हेमंत सोरेन जी ने ताजलैंड सेंड होटल में 5 सितंबर 2013 की रात शराब के नशे में जानवरों जैसा रेप किया था। इनका आज भी रोज आधा समय उस रेप के मुक़दमे से बचने के लिये जुगाड़ का इंतज़ाम करने में ही बीत रहा है।

हेमंत सोरेन को लताड़ते हुए असम के भाजपा नेता हिमंता विश्वा सरमा ने लिखा, आपका यह ट्वीट न सिर्फ़ न्यूनतम मर्यादा के ख़िलाफ़ है बल्कि उस राज्य की जनता की पीड़ा का भी मजाक़ उड़ाना है जिनका हाल जानने के लिए माननीय प्रधानमंत्री जी ने फ़ोन किया था। बहुत ओछी हरकत कर दी आपने। मुख्यमंत्री पद की गरिमा भी गिरा दी.