NIA की चार्जशीट में सनसनीखेज खुलासा, जम्मू-कश्मीर में हिन्दुओं की ह’त्या करना चाहता था हिज्बुल मुजाहिद्दीन

जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में आतंक फैलाने की साजिश मामलें में आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन की भूमिका को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( एनआईए ) ने 22 मई को चार्जशीट दाखिल कर दी है, रिपब्लिक टीवी के मुताबिक़, 8 मार्च, 2019 की प्राथमिकी के अनुसार, आरोपियों पर धारा 120बी और 392, यूएपीए की धारा 16,18,19, 20, 23, 38, 39 और 40 और धारा 7, 25 और 30 के तहत मामला दर्ज किया गया था।

आरोपियों में आतंकी ओसामा बिन जावेद, हारून अब्बास वानी और जाहिद हुसैन मुठभेड़ में मारे गए हैं, ये सभी डोडा-किश्तवाड़ में कई आतंकी हमलों में शामिल भी थे। आतंकी जाफर हुसैन, तनवीर अहमद और तारीफ हुसैन आतंकियों को लॉजिस्टिक सपोर्ट, छुपाने का इंतेज़ाम और हर तरह की मदद मुहैया करवा रहे थे, जिसके बाद इनकी गिरफ्तारी की गई थी। इन्हीं तीनों के खिलाफ ही NIA ने चार्जशीट दाखिल की है।

NIA की जांच से पता चला कि किश्तवाड़ में 2018 से 2019 के बीच हिजबुल मुजाहिदीन के किए गए आतंकी हमलों में काफी समानता थी। सभी आतंकी हमलों के पीछे वजह एक ही थी। आतंकी किश्तवाड़ में हथियार लूटकर हिन्दू समुदाय के लोगों की हत्या करके घाटी में आतंकवाद को फिर से खड़ा करना चाहते थे।