समुदाय विशेष के सैकड़ों लोगों ने महादलित बस्ती पर बोला हमला, घरों को जलाया, चौकीदार का मर्डर किया

pic credit - youth rss and opindia

बिहार के पूर्णिया से एक सनसनीखेज खबर सामने आई है, सैकड़ों की भीड़ न महादलित बस्ती पर हमला बोलकर न सिर्फ घरों को आग के हवाले कर दिया बल्कि एक पूर्व चौकीदार को मौत के घाट उतार दिया, ये पूरा मामला पूर्णिया के बायसी थाना के खपड़ा पंचायत अंतर्गत मझुवा गांव की है.

न्यूज़-18 के मुताबिक़, सैकड़ों लोगों की भीड़ ने महादलितों की बस्ती में आग लगा दी थी. इस आगजनी में महादलितों के 13 घर जलकर खाक हो गए, वहीं अवकाश प्राप्त चौकीदार नेवालाल राय की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. इस दौरान भीड़ ने कई महिलाओं और महादलितों के साथ बेरहमी से मारपीट की. इस पूरी वारदात में गांव के कई लोग घायल हुए हैं. सूचना मिलने के बाद कई थाने की पुलिस, एसडीओ और एसडीपीओ मौके पर पहुंच गए. दमकल की 5 गाड़ियों की मदद से बस्ती में लगी आग पर काबू पाया जा सका।

ऑपइंडिया के मुताबिक़, चौकीदार भरत राय ने इस ने इस मामले पर जानकारी देते हुए बताया कि दिन में थोड़ी बहुत मारपीट हुई थी, जिसके बाद प्रशासन ने आकर उनको समझा कर मामला शांत कर दिया था, लेकिन रात 11:30 बजे लगभग 150 की तादाद में कई गाँवों से भीड़ वहाँ पर पहुँची। सबके हाथ में पेट्रोल का गैलन था। वे घरों पर पेट्रोल डालते गए और आग लगाते गए। जो बीच में आया उसे बेरहमी से मारते गए.

भरत राय ने बताया कि जो लोग आए थे, वो मुस्लिम समुदाय के थे। उन्होंने बताया कि रिजवी, शाकिद और इलियास का यह व्यक्तिगत मामला था। बाकी लोग उसके समर्थन में बस इसलिए आए थे, क्योंकि वह मुस्लिम है। उनका कहना है कि महादलितों के पीडब्ल्यूडी में बसने के आक्रोश में भीड़ ने ऐसा किया है। महादलित यहाँ पर लगभग 30 सालों से रह रहे हैं। उन्होंने बताया कि भीड़ को भड़का कर लाया गया था।