बिग ब्रेकिंग: गाजापट्टी सीमा पर इजराइली टैंको ने लिया पोजीशन

गाजा पट्टी में इजरायली सेना और फलिस्तीनी लड़ाकों के बीच जंग जारी है। सोमवार से अब तक कम से कम 65 फलिस्तीनी और छह इजरायल के नागरिक मारे गए हैं। इजराइली शहर अश्‍क्लॉन में कल हुए रॉकेट हमले में एक भारतीय महिला भी मारी गई। इजराइल अब इस जंग को निर्याणक मोड़ पर पहुँचाने के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है. इनपुट्स मिल रहे हैं कि इजराइली टैंकों और तोपों ने गाजापट्टी बॉर्डर पर पोजीशन ले लिया है, यानी फिलिस्तीन के लिए अगले कुछ घंटे काफी अहम् होंगे। क्यूंकि इजराइल पहले ही कह चुका है आने वाले 6 महीने या साल भर में वे कुछ ऐसा करेंगे जो उन्होंने अब तक नहीं किया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हमास के वरिष्ठ नेता मौसा अबू मरजूक ने गुट के 9 कमांडरों के मरने के बाद रूसी विदेश मंत्री (मध्य पूर्व के मुद्दों को देखने वाले) मिखाइल बोगदानोव से फोन पर युद्ध विराम का प्रस्ताव रखा था। परन्तु इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने हमास का प्रस्ताव ठुकरा दिया और कहा कि आने वाले 6 महीने या साल भर में वे कुछ ऐसा करेंगे जो उन्होंने अब तक नहीं किया। यानि हमास को तबाह करके छोड़ेंगे ताकि दोबारा इजराइल की तरफ हमास आँख उठाकर देखने की जुर्रत न कर सके।

एक लोकल समाचार साइट से इजराइल के एक कैबिनेट मंत्री ने कहा, “हमारे हर निशाने पर हमला बोलने के बाद यदि उन लोगों ने सरेंडर नहीं किया तो हम ग्राउंड ऑपरेशन लॉन्च करेंगे।” संघर्ष शुरू ​होने के बाद से इजरायल पर 1600 से ज्यादा रॉकेट दागे गए हैं। जवाब में गाजा में करीब 600 ठिकानों को इजरायली सेना अब तक निशाना बना चुकी है।