राष्ट्रपति कोविंद से बोले पूर्व IAS संजय दीक्षित, भगवान बुद्ध कोई नवबौद्धों की सम्पत्ति नहीं हैं

आज यानि 26 मई 2021 को बुद्ध पूर्णिमा का त्योहार है। हिंदू पंचांग के मुताबिक हर साल वैशाख पूर्णिमा के दिन ही इस पर्व को मनाया जाता है। बुद्ध पूर्णिमा पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भगवान बुद्ध के सभी अनुयायियों को बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनायें दी, जिसपर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए पूर्व आईएएस अधिकारी संजय दीक्षित ने कहा, भगवान बुद्ध कोई नवबौद्धों की सम्पत्ति नहीं हैं, नवबौद्ध भगवान बुद्ध को कलंकित ही करते हैं.

रष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनायें देते हुए आपने ट्वीट में लिखा, भगवान बुद्ध के सभी अनुयायियों को बुद्ध पूर्णिमा की शुभकामनाएं। बुद्ध की शिक्षाएं संपूर्ण विश्व को पीड़ा व‌ दुख से मुक्ति का मार्ग दर्शाती हैं। भगवान बुद्ध के ज्ञान, करुणा व सेवा के मार्ग पर चलते हुए सभी देशवासी एकजुटता और सामूहिक संकल्प के बल पर COVID-19 से मुक्त हों।

राष्ट्रपति कोविंद के शुभकामना सन्देश पर टिप्पणी करते हुए पूर्व आईएएस संजय दीक्षित ने लिखा, केवल भगवान बुद्ध के अनुयायियों को? पूरा भारतवर्ष उन्हें विष्णु भगवान का नवां अवतार मानता है। भगवान बुद्ध कोई नवबौद्धों की सम्पत्ति नहीं हैं। नवबौद्ध तो भगवान बुद्ध को कलंकित ही करते हैं उनके धर्म और अहिंसा के उपदेशों का अतिक्रमण करके। जय शाक्य मुनि बुद्ध।

आपको बता दें कि हिंदू धर्म में गौतम बुद्ध को भगवान विष्णु का नौंवा अवतार माना गया है। बौद्ध व हिंदू दोनों धर्मों के लोग इस दिन को बेहद उत्साह व आस्था के साथ मनाते हैं।