डोमिनिका की CID ने जमकर की है भगोड़े मेहुल चौकसी की कुटाई, पीट-पीटकर बिगाड़ दिया हुलिया

भगोड़ा मेहुल चौकसी डोमिनिका में गिरफ्तार हुआ है. बुधवार देर रात उसकी गिरफ़्तारी हुई है, मेहुल चोकसी 2018 में कैरेबियाई देश एंटीगुआ और बारबुडा की नागरिकता ले चुका है, मेहुल चोकसी को डोमिनिका की स्थानीय पुलिस ने बुधवार रात उस वक्त पकड़ लिया जब वह नाव में सवार होकर क्यूबा भागने की कोशिश कर रहा था. चौकसी गैरकानूनी तरीके से डोमिनिका में घुसा था.

अब डोमिनिका से मेहुल चौकसी की एक तस्वीर सामनें आई है, जिसमें चौकसी जेल में बंद दिखाई दे रहा है, पीएनबी घोटाले का आरोपित मेहुल चोकसी डोमिनिका में क्रिमिनिल इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट (सीआईडी) की कस्टडी में है। तस्वीरों में साफ़ दिखाई दे रहा है कि डोमिनिका की CID ने उसकी जमकर कुटाई की है, मेहुल चौकसी की आँखें लाल हैं, हाथ पर भी चोट के निशान दिखाई दे रहे हैं.

हालाँकि डोमिनिका की स्थानीय अदालत ने मेहुल चौकसी के प्रत्यर्पण पर बुधवार तक रोक लगा दी, अदालत ने यह भी निर्देश दिया कि 62 वर्षीय मेहुल चौकसी को चिकित्सा के लिए अस्पताल ले जाया जाए और कोरोना टेस्ट किया जाए। स्थानीय रिपोर्टों में कहा गया है कि चौकसी की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है.

भारत से फरार हुआ पीएनबी बैंक घोटाले का आरोपी और हीरा कारोबारी एंटीगुआ में 23 मई से लापता चल रहा था, 26 मई को डोमिनिका पुलिस ने उसे अपने देश में गिरफ्तार कर लिया। सूत्रों के मुताबिक, मेहुल चोकसी नाव के जरिये डोमिनिका पहुंचा था, वहां से वह क्यूबा भागनें की फ़िराक में था, लेकिन पकड़ा गया. चौकसी के वकील विजय अग्रवाल ने आरोप लगाया है कि मेहुल चौकसी को गिरफ्तार नहीं बल्कि उसका अपहरण किया गया है.

डोमिनिका में मेहुल चौकसी की गिरफ़्तारी होने के बाद भारतीय एजेंसियों भी उसका भारत प्रत्यर्पण करानें की तैयारियां तेज कर दी हैं, 62 वर्षीय मेहुल चौकसी पर पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) से लगभग 13,600 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का आरोप है।