बंगाल में साफ हुआ कांग्रेस-लेफ्ट का सूपड़ा, सभी 292 सीटों पर करारी हार, ज्यादा सीटों पर जमानत जब्त

पश्चिम बंगाल के चुनावी नतीजे आ गए हैं, तृणमूल कांग्रेस ने ( टीएमसी ) जहाँ भारी बहुमत से एक बार फिर सरकार बना ली है तो वहीँ भाजपा ने भी शानदार प्रदर्शन करते हुए 3 सीट से 77 सीटों पर पहुँची। सबसे दिलचस्प बात यह रही नंदीग्राम से भाजपा उम्मीदवार सुवेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी को 1974 वोटों से हरा दिया। हालाँकि बंगाल में कांग्रेस-लेफ्ट का सूपड़ा साफ़ हो गया है, इस गठबंधन को एक भी सीट पर जीत नहीं ,मिली अधिकतर सीटों पर जमानत जब्त हो गई.

2016 में हुए पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में वामपंथियों ने 32 सीटें जीती थीं और कांग्रेस ने 44 सीटों पर विजय हासिल की थी, लेकिन इस बार खाता भी नहीं खोल पाए. सिर्फ बंगाल में ही नहीं असम, पुडुचेरी और केरल में भी कांग्रेस के करारी हुई है, इसके बावजूद अपनी हार पर आत्ममंथन करने के बजाय कांग्रेसी भाजपा की हार का जश्न मना रहे हैं.

वहीँ नंदीग्राम में ममता बनर्जी के हारने के बाद टीएमसी कार्यकर्ताओं ने रिकाउंटिंग की मांग की है, तृणमूल कांग्रेस ने मतगणना में हेराफेरी की बात कही थी, ममता बनर्जी ने “दुर्भावना” का आरोप लगाया था और कहा था कि वह अदालतों का रुख करेंगी। नंदीग्राम से हारने के बाद ममता ने कहा, नंदीग्राम वालों को जो भी फैसला देना है, मैं उसे स्वीकार करती हूं। नंदीग्राम एक बलिदान था जिसे बड़ी जीत की जरूरत थी। हमने राज्य को जीत लिया है।