बंगाल: कांग्रेस और लेफ्ट का समर्थन करने वाले हिन्दुओं पर भी हो रहे हमलें, कांग्रेसी-वामी खामोश

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे आ गए हैं, ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी ने एक बार फिर से बंगाल में भारी बहुमत के साथ सरकार बना ली है, सरकार बनते ही गुंडों ने आतंक मचाना शुरू कर दिया है, कहीं भाजपा दफ्तरों को आग के हवाले किया तो कहीं भाजपा कार्यकर्ताओं के घरों में आग लगाया, तोड़फोड़ की तो कहीं भाजपा कार्यकर्ताओं की ह्त्या कर दी. बंगाल में इस समय आराजकता अपने चरम पर है.

कुछ भाजपा नेताओं के बयानों के मुताबिक़, बंगाल में चुन-चुनकर हिन्दुओं को निशाना बनाया जा रहा है, चाहे वह भाजपा समर्थक हो या कांग्रेस-लेफ्ट समर्थक, हालाँकि भाजपा अपने समर्थकों के समर्थन में आवाज उठा रही है लेकिन कोंग्रेस और लेफ्ट पूरी तरह से खामोश है।

राजनीतिक विश्लेषक पीएन राई ने ट्वीट कर कहा, बंगाल में उन हिंदुओं पर भी हमले हो रहे हैं जो मुस्लिम बाहुल्य इलाके में हैं, लेकिन समर्थन कांग्रेस और लेफ्ट को किया था। कुछ टीएमसी समर्थकों पर भी हमले हुए, ताकि वे लोग मुस्लिम इलाकों से भाग जाएं। मुस्लिम इलाकों से तेजी से कश्मीर की तरह हिंदुओं का पलायन हो रहा है।

बता दें कि पश्चिम बंगाल में हिंसा के शिकार तमाम परिवारों का पलायन शुरू हो चुका है, जान बचाकर सीमा से सटे असम के धुबरी जिले में पहुंच रहे बंगाल के पीड़ित परिवार। असम के भाजपा नेता हिमंता विश्व सरमा ने प्रशासन को इन परिवारों के रहने से लेकर खाने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। बंगाल से सटा है असम धुबरी जिला।

बंगाल में हो रही हिंसा के खिलाफ देश हर में जमकर आक्रोश है, सोशल मीडिया पर बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगानें की मांग की जा रही है, अब बीजेपी सांसद डॉ निशिकांत दुबे ने भी ट्वीट कर इस मांग को बल दिया है, उन्होंने कहा, किसी भी कीमत में बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगना ही चाहिए।