दिल्ली के बत्रा अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से आठ मरीजों की दर्दनाक मौत

देशभर में कोरोना का कहर जारी है, कोरोना का सबसे विकराल रूप दिल्ली में देखने को मिल रहा है, दिल्ली में न अस्पताल खाली हैं, न जीवनरक्षक दवाएं मिल रही हैं, ऑक्सीजन की भारी किल्लत देखी जा रही है. दिल्ली के बत्रा अस्पताल में आज ऑक्सीजन न मिलनें से आठ मरीजों की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि ऑक्सीजन न मिलनें से लगभग 11.45 बजे आठ लोगों की मौत हो गई, एनडीटीवी के मुताबिक़, मृतकों में एक डॉक्टर भी शामिल था. आठ में से 6 मरीजों को अस्पताल के आईसीयू में और दो को कोविड वार्डों में भर्ती कराया गया था, मरने वाले डॉक्टर की पहचान गैस्ट्रोएंटरोलॉजी यूनिट के प्रमुख डॉ। आरके हिमनाथी के रूप में हुई है।

50 वर्षीय अजीत सिंह भाटिया ने एनडीटीवी को बताया कि ‘”मेरी चाची, 64 साल की कवलजीत कौर भाटिया का निधन हो गया क्योंकि वहाँ ऑक्सीजन नहीं थी। उनके फेफड़े बहुत संक्रमित थे। वह वेंटिलेटर पर थीं। सुबह 8 बजे से ऑक्सीजन का संकट था. एक हफ्ते में यह दूसरी बार है कि जब बत्रा अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी हुई।

स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर बड़े-बड़े दावे करने वाली दिल्ली की अरविन्द केजरीवाल सरकार पूरी तरह फेल नजर आ रही है, मरीजों की जान नहीं बचा पा रही है, दिल्ली में न अस्पताल खाली हैं, न जीवनरक्षक दवाएं मिल रही हैं, ऑक्सीजन की भारी किल्लत देखी जा रही है. अगर आज समय से ऑक्सीजन मिला होता तो बत्रा हॉस्पिटल में शायद वो आठ लोग ज़िंदा होते।