हरियाणा में क्यों लगा सम्पूर्ण लॉकडाउन, मंत्री अनिल विज ने बताया कारण

हरियाणा में कोरोना के मामलें बढ़ने के बाद राज्य सरकार ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए एक सप्ताह का लॉकडाउन लगा दिया, 3 मई से 10 मई तक लॉकडाउन लागू रहेगा। हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि ‘कोविड के नियमों का लोगों ने सही ढंग से पालन नहीं किया, इसलिए लॉकडाउन लगाया गया और इसके अलावा और कोई चारा नहीं था.

मंत्री अनिल विज ने कहा, हम बिल्कुल भी लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते थे लेकिन हमारी कोशिशों के बावजूद भी जिस तरह से कोविड के नियमों का पालन करना चाहिए था लोगों ने नहीं किया। इससे कोरोना के मामले बहुत बढ़ गए। कोई चारा नहीं बचा था इसलिए हमें ये लॉकडाउन लगाना पड़ा। हरियाणा में 2 मई को रिकॉर्ड कोरोना के 4,486 मामलें आये जबकि 145 लोगों की मौत हुई।

लॉकडाउन के दौरान सभी स्वास्थ्य सेवाएं (आयुष सहित) अस्पतालों, नर्सिंग होम, क्लीनिक आदि खुले रहेंगे। बैंक शाखाएं और एटीएम नॉन-बैंकिंग वित्तीय निगमों (NBFCs) सहित सभी खुले रहेंगे, जिसमें न्यूनतम कर्मचारी होंगे। रेल, सड़क और वायु द्वारा माल के आवागमन की अनुमति होगी। राजमार्गों पर ट्रक मरम्मत की दुकानें और ढाबे खुले रहेंगे। भोजन और किराने का सामान की दुकानों सहित आवश्यक वस्तुओं से संबंधित सभी सुविधाएं सुचारु रूप से चालु रहेंगी। लॉकडाउन के कारण फंसे पर्यटकों और व्यक्तियों को ठहरने के लिए होटल और लॉज संचालित करने की अनुमति होगी। सार्वजनिक परिवहनों को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ चलने की अनुमति होगी।

सभी शैक्षणिक संस्थान और कोचिंग सेंटर बंद रहेंगे। सिनेमा हॉल, मॉल, मार्केट कॉम्प्लेक्स, जिम, स्पोर्ट्स सेंटर और स्विमिंग पूल बंद रहेंगे। सैलून, नाई की दुकानें, स्पा और ब्यूटी पार्लर बंद रहेंगे। सभी सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन और धार्मिक आयोजन की अनुमति नहीं होगी। अंतिम संस्कार में 20 अधिक लोगों के शामिल होने की अनुमति नहीं होगी, शादी-विवाह के लिए डीएम से अनुमति लेनी होगी।