भारत में शुरू हुई 5G की टेस्टिंग, इन कंपनियों को दिया गया लाइसेंस

भारत में 5G की टेस्टिंग शुरू हो गई है, Airtel, Jio, Vodafone Idea और MTNL को 5G परीक्षण शुरू करने की अनुमति दी गई है, एयरटेल ने हैदराबाद में कमर्शियल नेटवर्क पर 5G सर्विस का परीक्षण सफलतापूर्वक किया है। जबकि रिलायंस जियो ने पुष्टि की है कि वे एक स्वदेशी 5 जी नेटवर्क का निर्माण करेंगे। चीनी कंपनियों को 5G की टेस्टिंग से दूर रखा गया है. यानि हुवेई और अन्य चीनी दूरसंचार उपकरण कंपनियां इसमें भाग नहीं ले सकेंगी।

रिपब्लिक पर छपी खबर के मुताबिक़, भारती एयरटेल ने जनवरी में हैदराबाद में कमर्शियल नेटवर्क पर 5G सर्विस का सफलतापूर्वक परीक्षण की घोषणा की, एयरटेल ने ये परीक्षण अपने लिबरलाइज्‍ड स्पेक्ट्रम को 1800 मेगाहर्ट्ज बैंड में नॉन स्टैंड अलोन नेटवर्क तकनीक के माध्यम से किया। उसके मुताबिक 4G की तुलना में 5G पर 10 गुना ज्यादा स्पीड मिलेगी।

हालाँकि भारत में अभी 5 जी लॉन्च की तारीख निर्धारित नहीं की गई है, लेकिन भारत सरकार के संचार मंत्रालय के दूरसंचार विभाग ने घोषणा की है कि 5 जी परीक्षणों को मंजूरी दे दी गई है और दूरसंचार कंपनियों को इस सप्ताह कुछ समय के लिए 5 जी स्पेक्ट्रम आवंटित किया जाएगा। इसका मतलब यह है कि रिलायंस जियो, भारती एयरटेल, और वीआई जैसी दूरसंचार कंपनियां पूरे भारत में 5 जी स्पेक्ट्रम परीक्षणों के अनुरूप हो सकती हैं। दूरसंचार कंपनियों के पास अपने नेटवर्क पर 5G की टेस्टिंग करने के लिए छह महीने का समय होगा।

5 जी से एग्रीकल्चर, एजुकेशन, हेल्थ, ट्रांसपोर्टेशन, ट्रैफिक मैनेजमेंट, स्मार्ट सिटीज, स्मार्ट होम्स और तरह-तरह के इंटरनेट ऑफ थिंग्स एप्लिकेशन सभी लाभान्वित होंगे। रिलायंस जियो और एयरटेल दोनों ही 5 जी तकनीक को विकसित करने के लिए काफी प्रयास कर रहे हैं।