शर्मनाक: राजस्थान में भूखी गर्भवती ने मांगी रोटी तो दरिंदों ने एम्बुलेंस में किया गैंगरेप

rape-case-in-faridabad-with-maid-fir-lodged
प्रतीकात्मक चित्र

राजस्थान के जयपुर में गैंगरेप का एक बेहद हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जी हाँ! जहाँ दो दरिंदों ने भूखी गर्भवती महिला से गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया, दैनिक भास्कर में छपी खबर के मुताबिक, खानाबदोश 22 वर्षीय महिला ने बांगड़ के बाहर खड़ी एम्बुलेंस चालक से रोटी मांगी। चालक रोटी खिलाने के बहाने महिला को एम्बुलेंस में बैठाया और वहां से चल दिया। रास्ते में एक और साथी को बुलाया और झालाना जंगल में ले जाकर दोनों ने महिला के साथ बलात्कार किया। ये घटना 24 मई 2021 की है. दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने के बाद दोनों दरिंदों ने पीड़िता को एसएमएस हॉस्पिटल के बाहर छोड़कर फरार हो गए. इसके बाद सूचना मिलते ही पुलिस ने मामला दर्ज किया और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

दैनिक भास्कर के मुताबिक, डीसीपी अभिजीत सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किये गए दोनों आरोपियों के नाम सुरेंद्र भुसावर और महेंद्र मीणा है, सुरेंद्र एम्बुलेंस चालक था, दोनों दौसा का कालखोह निवासी हैं. डीसीपी ने बताया कि ;पीड़िता का पति सब्जी का ठेला लगाता है, लॉकडाउन लगने के कारण दो वक्त की रोटी भी मुश्किल हो रही थी. 8 महीनें की गर्भवती महिला भोजन मांगकर पेट भर रही थी।

इसी कड़ी में पीड़िता ने सोमवार को बांगड़ के बाहर खड़ी एम्बुलेंस वाले से रोटी मांगी, उसे क्या पता था असल में ये इंसान का रूप धारण किये शैतान हैं. महिला से बलात्कार करने के बाद दरिंदे पीड़िता को एसएमएस हॉस्पिटल के बाहर छोड़कर फरार हो गए. इसके बाद पीड़िता किसी तरह सवाई मानसिंह हॉस्पिटल स्थित पुलिस चौकी पहुँची और आपबीती बताई।

इसके बाद पुलिस ने एम्बुलेंस की तलाश शुरू कर दी, एम्बुलेंस भी मिल गई और दोनों दरिंदे भी पुलिस की गिरफ्त में आ गए, फरार होने से पहले दरिंदों ने पीड़िता से कहा था, किसी को बताना मत, चुप रहोगी तो एक किलो देशी घी और 500 रूपये देंगे। पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल कराने के बाद दोनों आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप और SC/ST एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी है।