कोरोना के कारण माता-पिता को खोने वाले बच्चों को मिलेंगे 10 लाख रूपये, PM मोदी ने किया ऐलान

देशभर में कोरोना वायरस का कहर जारी है, कई राज्यों में तो ऐसा देखा जा रहा है कोरोना की वजह से पूरा परिवार तबाह हो जा रहा है, एक-एक घर में कई-कई मौतें हो रही हैं, हजारों बच्चे अनाथ हो जा रहे हैं, जिनके घरों में अब कोई आजीविका चलाने/कमानें वाला नहीं रह गया है, इन सबपर मुसीबत का पहाड़ टूटता जा रहा है, अब ऐसे बच्चों के हित में केंद्र की मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है.

मोदी सरकार ने ऐलान किया है कि कोरोना वायरस के कारण अपने-माता व् अभिभावक को खोने वाले बच्चों को 10 लाख रूपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी, इसके अलावा पांच साल तक वजीफा दिए जाएंगे, ये धनराशि ‘पीएम केयर्स फंड’ से दी जाएगी।

प्रधानमंत्री कार्यालय से दी गई जानकारी के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घोषणा की है कि #COVID19 के कारण माता-पिता या अभिभावक दोनों को खोने वाले सभी बच्चों को ‘पीएम-केयर्स फॉर चिल्ड्रन’ योजना के तहत सहायता दी जाएगी। ऐसे बच्चों को 18 साल की उम्र में मासिक वजीफा और 23 साल की उम्र में पीएम केयर्स से 10 लाख रुपये का फंड मिलेगा।

इससे पहले मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया था कि ‘ऐसे बच्चे जिनके परिवार से पिता का साया उठ चुका है, कमानें वाला कोई नहीं बचा. ऐसे परिवारों को पांच हजार रूपये हर महीनें पेंशन दी जाएगी। ऐसे सभी बच्चों की शिक्षा का निःशुल्क प्रबंध किया जाएगा ताकि वो अपनी पढ़ाई-लिखाई जारी रख सकें। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम.के.स्टालिन ने कोरोना वायरस की वजह से माता-पिता दोनों को खोने वाले बच्चों को 5 लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की।