कोरोना संकट काल में भारत की मदद के लिए आगे आये अमेरिका और फ्रांस समेत दुनिया के 40 देश

कोरोना संकट काल में भारत की मदद के लिए अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस समेत 40 देश आगे आये हैं, विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने आज नई दिल्‍ली में संवाददाताओं को जानकारी देते हुए कहा कि विभिन्‍न देशों से चिकित्‍सा उपकरणों और दवाईयों की खेप भारत में पहुंचनी शुरू हो गई है। उन्‍होंने कहा कि अमरीका ने महामारी के खिलाफ संघर्ष में भारत की मदद करने का वायदा किया है।

श्रृंगला ने बताया कि अमरीका से तीन उड़ाने एक हफ्ते के अंदर भारत आने के लिए तैयार हैं। उन्‍होंने कहा कि ऑक्‍सीजन उत्‍पादक उपकरणों और ऑक्‍सीजन सिलेंडरों से लदे दो विमान कल भारत पहुंचेंगे। उन्‍होंने कहा कि संयुक्‍त अरब अमारात से वेंटीलेंटरों और फावीपीराविर दवाईयों के साथ एक मालवाहक विमान आज रात पहुंचेगा।

विदेश सचिव ने कहा कि तरल ऑक्‍सीजन की आपूर्ति सरकार की सर्वोच्‍च प्राथमिकताओं में से एक है। उन्‍होंने कहा कि पांच सौ से अधिक ऑक्‍सीजन उत्‍पादक संयंत्र और चार हजार ऑक्‍सीजन कंसंट्रेटर कुछ दिनों में भारत पहुंच जाएंगे। श्री श्रृंगला ने यह भी बताया कि विश्‍व की कई दवा उत्‍पादक कंपनियों ने भी रेमडेसिविर, टोसिलजुमाब और फावीपीराविर जैसी दवाईयां देने का भरोसा दिया है।