धन उगाही काण्ड में आया उद्धव सरकार के एक और मंत्री नाम तो संजय निरुपम ने कसा शिवसेना पर तंज

महाराष्ट्र सरकार की मुश्किलें दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही हैं, अनिल देशमुख के बाद अब उद्धव ठाकरे सरकार के एक और मंत्री पर वसूली का आदेश देने का आरोप लगा है, ये आरोप सचिन वाजे ने लगाया है, वाजे मुंबई पुलिस की क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट ( CIU ) के मुखिया थे, एंटीलिया केस में गिरफ़्तारी होने के बाद सस्पेंड कर दिए गए, एक और मंत्री पर उगाही करने का आरोप लगने के बाद कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने शिवसेना पर तंज कसा है, महाराष्ट्र कांग्रेस के दिग्गज नेता संजय निरुपम ने ट्वीट कर कहा कि निलंबित पुलिस अधिकारी वाज़े का सनसनीख़ेज़ इकबालिया बयान। एक और मंत्री पर वसूली का आदेश देने का आरोप। इस बार शिवसेना लपेटे में आई है। क्या पूर्व गृहमंत्री की तरह ये मंत्री भी जाएँगे ? नैतिकता का तक़ाज़ा तो यही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सचिन वाजे ने एक पत्र के माध्यम से कहा है कि अनिल देशमुख ने मेरी सेवा को फिर से बहाल करने के लिए मुझसे दो करोड़ रुपए मांगे थे. इसके अलावा वाजे ने महाराष्ट्र सरकार के एक और मंत्री का नाम लिया है.

सचिन वाजे ने अपने पत्र में लिखा है कि पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख ने उससे 1650 बार से पैसे वसूलने के लिए कहा था. इस पत्र में वाजे ने शिवसेना के मंत्री अनिल परब का नाम भी लिया है. वाजे ने कहा है कि बीएमसी के कॉन्ट्रैक्टर से पैसे वसूलने के लिए अनिल परब ने उससे कहा था. लेकिन सचिन वाजे का कहना है कि उसने यह काम करने से मना कर दिया था. धन उगाही कांड में अब शिवसेना के मंत्री का नाम आने के बाद सियासत और गरमा गई है, उधर हाईकोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई अनिल देशमुख पर लगे आरोपों की जाँच शुरू कर दी है, जांच से पहले देशमुख ने गृहमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया, अब देखना यह दिलचस्प होगा कि क्या अनिल परब भी इस्तीफा देते हैं या नहीं।