वसूली काण्ड: अब अनिल देशमुख का बचना मुश्किल, सचिन वाजे ने खोला मुंह, एक और मंत्री का लिया नाम

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह द्वारा लगाए गए आरोप के बाद अब महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही है, उधर बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश के पर सीबीआई ने देशमुख पर लगे भ्रस्टाचार की जांच शुरू ही की थी कि इधर अब सचिन वाजे ने मुंह खोलकर न सिर्फ देशमुख की मुश्किलें बढ़ा दी बल्कि एक और मंत्री का भी नाम ले लिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सचिन वाजे ने एक पत्र के माध्यम से कहा है कि अनिल देशमुख ने मेरी सेवा को फिर से बहाल करने के लिए मुझसे दो करोड़ रुपए मांगे थे. इसके अलावा वाजे ने महाराष्ट्र सरकार के एक और मंत्री का नाम लिया है, बताया जा रहा है कि वाजे ने ये पत्र NIA की कस्टडी में रहते हुए अपने वकील के साथ बैठ कर लिखे हैं. तीन पन्ने के इस पत्र में सचिन वाजे का आरोप है कि जब वो निलंबित था तब अनिल देशमुख ने उसे फोन किया था और फिर से सेवा में बहाल करने के लिए उससे 2 करोड़ रुपए की मांग की थी.

सचिन वाजे ने अपने पत्र में लिखा है कि पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख ने उससे 1650 बार से पैसे वसूलने के लिए कहा था. इस पत्र में वाजे ने पहली बार शिवसेना के मंत्री अनिल परब का नाम भी लिया है. सचिन वाजे ने कहा है कि बीएमसी के कॉन्ट्रैक्टर से पैसे वसूलने के लिए अनिल परब ने उससे कहा था. लेकिन सचिन वाजे का कहना है कि उसने यह काम करने से मना कर दिया था.

गौरतलब है कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने सीएम उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर कहा था कि गृहमंत्री अनिल देशमुख ने सचिन वाजे को हर महीनें 100 करोड़ की वसूली का आदेश था, फ़िलहाल इस आरोप की जांच सीबीआई कर रही है और अनिल देशमुख अपने पद से इस्तीफा दे चुके हैं।

loading...