कांग्रेस का दोहरा चरित्र: आतंकियों का सफाया करने वाले शौर्यचक्र विजेता की सुरक्षा छीन ली, मुख्तार अंसारी की खातिरदारी…

कांग्रेस पार्टी का एक बार फिर से दोहरा चरित्र सामनें आया है, आतंकियों का सफाया करने वाले शौर्यचक्र विजेता बलबिंदर सिंह संधू की सुरक्षा छीन ली और अपराधियों ने उनकी ह्त्या कर दी, जबकि उत्तर प्रदेश के कुख्यात अपराधी मुख़्तार अंसारी की खातिरदारी में पूरी पंजाब पुलिस झोंक दी,

आपको बता दें कि दुर्दांत अपराधी मुख्तार अंसारी उत्तर प्रदेश लाया जाएगा, पंजाब की रोपड़ जेल में बंद मुख्तार अंसारी मोहाली कोर्ट में पेशी के दौरान व्हीलचेयर पर दिखाई दिया, मुख़्तार अंसारी की सुरक्षा में पंजाब पुलिस आगे-पीछे तैनात रही. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने मुख्तार अंसारी को दो हफ्ते के अंदर उत्तर प्रदेश की जेल में शिफ्ट किए जाने का आदेश दिया. मुख्तार के केस और उसकी कस्टडी ट्रांसफर की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया, साथ ही कोर्ट पंजाब सरकार की दलीलों से संतुष्ट नहीं था.

अक्टूबर 2020 में पंजाब के तरनतारन में शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह की गोली मारकर ह्त्या कर दी गई, कुछ अज्ञात लोगों ने बलबिंदर सिंह को तरनतारन के भिखीविंड में स्थित उनके निवास पर गोली मार कर हत्या कर दी। श्री सिंह की पत्नी जगदीप कौर ने बताया कि सुबह करीब 7:00 बजे कुछ अज्ञात लोग उसके घर में घुसे और बलविंदर सिंह पर गोलियां चलाना शुरू कर दिया जिससे उनकी मौत हो गयी। हाल ही पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार ने बलबिंदर की सुरक्षा वापस ले ली थी, जिसका जमकर विरोध भी हुआ था, सुरक्षा वापस लिए जाने के बाद बलबिंदर की ह्त्या कर दी गई थी.

पंजाब में बहादुरी के साथ आतंकवादियों का मुकाबला करने के लिए बलविंदर सिंह तथा उनके पूरे परिवार को साल 1993 में राष्ट्रपति शंकरदयाल शर्मा द्वारा शौर्यचक्र से सम्मानित किया था। राज्य में आंतकवाद दौरान बलविंदर सिंह का आंतकवादियों के साथ 13 बार मुकाबला हुआ था।

loading...