ऑक्सीजन की कालाबजारी और जमाखोरी को लेकर योगी सरकार का बड़ा फैसला, IIT, IIM और IIT BHU को सौंपी कमान

देशभर में कोरोना वायरस एक बार फिर कहर बरपाने लगा है, ऑक्सीजन की जबरदस्त मांग बढ़ गई है, लेकिन इस आपदा के समय भी कुछ लोग ऑक्सीजन की कालाबाजारी और जमाखोरी कर मोटी रकम कमाने में लगे हैं। अब ऐसा करने वालों के खिलाफ उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कड़ा रुख अख्तियार किया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ऑक्सीजन की समस्या पर बड़ा फैसला लेते हुए सीएम योगी ने अब निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन का ऑडिट कराने का आदेश दिया है, ऑक्सीजन के ऑडिट की मॉनीटरिंग IIT कानपुर, IIM लखनऊ और IIT BHU करेगा मॉनीटरिंग, इसकी जिम्मेदारी ACS गृह अवनीश अवस्थी को सौंपी गई है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि ‘जो लोग होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे हैं उन्हें भी जरूरत के अनुसार ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जाए। प्रदेश में कहीं भी मेडिकल ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जाएगी, इसके अलावा सीएम ने अधिकारियों से हर जिले में ऑक्सीजन प्लांट की संभावनाओं को तलाशने के निर्देश दिए हैं।

सीएम योगी ने कहा, प्रदेश में उच्चस्तरीय चिकित्सा सुविधाएं और जीवनरक्षक दवाओं की उपलब्धता हर हाल में बनाए रखने के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है।सीएम ने प्रदेशवासियों से इस संकट की घड़ी में धैर्य बनाए रखने की अपील की है।