ब्रेकिंग: शुरू हुए बुरे दिन, 14 दिन के लिए तलोजा जेल भेजे गए सचिन वाजे

मुंबई पुलिस के पूर्व एपीआई सचिन वाजे को बड़ा झटका लगा है, राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA ) की विशेष अदालत ने शुक्रवार ( 9 अप्रैल, 2021 ) को एंटीलिया बम काण्ड मामलें में सचिन वाजे को 14 दिनों के लिए यानि 23 अप्रैल तक के लिए तलोजा जेल भेज दिया है, एंटीलिया केस में एनआईए द्वारा गिरफ्तार किए गए सचिन वाजे की भी एनआईए द्वारा मनसुख हिरेन की मौत की जांच की जा रही है। दूसरी ओर, सीबीआई पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख और सचिन वज़े के खिलाफ मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह द्वारा लगाए गए वसूली के आरोपों की जांच कर रही है।

रिपब्लिक के मुताबिक, गुरुवार को मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने सीबीआई के समक्ष अपना बयान दर्ज कराया और उन्होंने पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ अपने ‘वसूली’ के आरोप को दोहराया, सीबीआई के सामने परमबीर ने कुछ दस्तावेज और प्रमुख बैठकों का विवरण भी प्रस्तुत किया।

इस बीच, एनआईए द्वारा पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट और शिवसेना के टिकट पर चुनाव लड़ चुके प्रदीप शर्मा को भी गुरुवार को तलब किया गया था, क्योंकि निलंबित एपीआई सचिन वाजे ने कथित रूप से अपने बयान में उनका भी नाम लिया था। वाजे ने कहा था कि मुकेश अम्बानी के घर के बाहर खड़ी स्कॉर्पियो में जो जिलेटिन की छड़ें रखी गई थी, उसे प्रदीप शर्मा ही लाये थे,

सुप्रीम कोर्ट ने परमबीर सिंह के ‘आरोपों’ की 15 दिनों की सीबीआई प्रारंभिक जांच की अनुमति देने के बॉम्बे HC के आदेश को बरकरार रखा है। अनिल देशमुख ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करके सीबीआई जांच रुकवाने की मांग की थी, सुप्रीम कोर्ट ने याचिका खारिज कर हाईकोर्ट के आदेश में दखल देने से इंकार कर दिया।

गौरतलब है कि 25 फरवरी 2021 को लगभग शाम 6 बजे मुंबई में उद्योगपति मुकेश अम्बानी के घर एंटीलिया के बाहर एक स्कॉर्पियो खड़ी थी, जिसमें से कुछ जिलेटिन की छड़ें और एक धमकी भरी चिट्ठी बरामद हुई थी, पहले मुंबई पुलिस इसकी जांच कर रही थी, इसके बाद गृहमंत्रालय ने NIA को केस सौंप दिया, NIA ने सबसे पहले सचिन वाजे को गिरफ्तार किया। पूछताछ के दौरान सचिन वाजे कई राज खोल चुके हैं।