छत्तीसगढ़ में बड़ा नक्सली हमला हुआ, 24 जवान शहीद हो गए लेकिन CM साहब असम में प्रचार कर रहे हैं

छत्तीसगढ़ के सुकमा-बीजापुर की सीमा पर जूनागढ़ गांव में शनिवार ( 3 अप्रैल, 2021 ) को नक्सलियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबल के 24 जवान शहीद हो गए हैं, 20 से ज्यादा जवान घायल हैं, जबकि 15 से ज्यादा नक्सली भी ठोंके गए हैं, नक्सलियों को काफी क्षति होने की ख़बर है। छत्तीसगढ़ में हुए इस बड़े नक्सली हमलें के बाद देशभर में आक्रोश है तो वहीँ छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री असम में चुनाव प्रचार करने में व्यस्त हैं.

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का इतना बड़ा हमला हो गया, 24 जवान शहीद हो गए, 20 जवान घायल हैं, कई जवानों के गायब होने की खबर, राज्य COVID-19 से बेहाल है लेकिन मुख्यमंत्री जी राज्य से पत्रकारों की टोली ले जा आसाम में प्रचार कर रहे।

बताया जा रहा है कि सुकमा के घने जंगल वाले इलाके में नक्सलियों ने घात लगाकर सुरक्षाबलों को निशाना बनाया, उसके बाद दोनों तरफ से फायरिंग शुरू हो गई, ये मुठभेड़ लगातार कई घंटों तक चली, लेकिन इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों के 24 जवानों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में जान गंवाने वाले सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन के एक जवान के पार्थिव शरीर को जगदलपुर लाया गया। बताया जा रहा है कि घात लगाकर सुरक्षाबलों पर यह हमला ख़ूँख़ार नक्सली हिदमा ने किया था, नक्सली सुरक्षाबलों के हथियार भी लूट ले गए, इससे पहले सुकमा और झीरम घाटी में भी हिदमा ने ही हमला किया था।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कल सुकमा-बीजापुर बॉर्डर पर सुरक्षा बलों पर हुए नक्सली हमले को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री से बात की। गृह मंत्री ने स्थिति का जायजा लेने के लिए सीआरपीएफ के महानिदेशक को राज्य में जाने के लिए कहा है, छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक, गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री से कहा कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार मिलकर नक्सली हिंसा की लड़ाई को अवश्य जीतेंगे और केंद्र सरकार की तरफ से जो भी आवश्यक मदद होगी वो राज्य सरकार को दी जायेगी।

loading...