पूर्व DGP का हैरतअंगेज खुलासा, सपा सरकार में मुख़्तार अंसारी को खुली छूट थी, एम्बुलेंस है बुलेटप्रूफ

जैसे-जैसे दुर्दांत अपराधी मुख़्तार अंसारी के उत्तर प्रदेश में आने की तारिख सामनें आती जा रही है, वैसे-वैसे नई बातें भी सामनें आ रही हैं, मुख़्तार अंसारी को जब मोहाली कोर्ट में पेश किया गया तो एक एम्बुलेंस को लेकर तमाम प्रकार के सवाल उठें। अब इस मामलें को लेकर उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी बृजलाल हैरतअंगेज खुलासा किया है, पूर्व डीजीपी ने कहा, वो एम्बुलेंस बुलेटप्रूफ है और मुख़्तार का चलता-फिरता किला है, इसके साथ ही उन्होनें कहा कि उत्तर प्रदेश में जब समाजवादी पार्टी की सरकार थी, तब मुख़्तार अंसारी को खुली छूट थी..

मुख़्तार अंसारी के आपराधिक इतिहास को नजदीक से देखने वाले यूपी के पूर्व डीजीपी बृजलाल ने कहा, मोहाली में मुख़्तार अंसारी के पास यूपी नंबर की जो एम्बुलेंस मिली है, ये एम्बुलेंस नहीं बल्कि मुख़्तार का चलता-फिरता किला है और ये बुलेटप्रूफ है, उन्होंने कहा, इसकी बुलेटप्रूफ़िंग चंडीगढ़ में कराई गई थी. इसका ड्राइवर है सलीम। जिसका भाई प्रिंस खान मारा जा चुका है, पूर्व डीजीपी ने कहा, मुख़्तार अंसारी जब यूपी की जेल में था, खासकर समाजवादी पार्टी की सरकार में इसे खुली छूट थी, आगरा और गाजीपुर जेल इसके आसियाने थे. तब जब ये आता था तो इसी बुलेटप्रूफ गाडी में आता था..

आजतक से बात करते हुए पूर्व डीजीपी बृजलाल ने कहा, सपा सरकार में जब ये विधानसभा में आता था तो उसी गाडी से आता था, लगता था उसमें कोई वीवीआईपी आ रहा हो, उन्होंने कहा, इस एम्बुलेंस में मुख़्तार अंसारी अपनें असलहे रखता था, इसकी अपनी .357 Magnum रिवॉल्वर, .38 beretta पिस्टल और .45 pistol रखता था, उन्होंने कहा कि मुख़्तार अंसारी की गाड़ी में सेटेलाइट फोन भी होता था..

आपको बता दें कि हाल ही में मुख़्तार अंसारी मोहाली कोर्ट में पेश हुआ था, एम्बुलेंस से कोर्ट पहुंचा था, आमतौर पर जब कोई कैदी बीमार होता है और उसे कोर्ट में पेश होना होता है तो उसके लिए जेल प्रसाशन एम्बुलेंस की व्यवस्था करता है, लेकिन मुख़्तार अंसारी अपनी प्राइवेट एम्बुलेंस से कोर्ट पहुंचा, तभी से संदेह होनें लगा था, बाद में पता चला कि ये एम्बुलेंस यूपी के बाराबंकी में रजिस्टर्ड है, पुलिस ने एम्बुलेंस बरामद कर ली है, कोर्ट के आदेश पर यूपी लाया जाएगा।

loading...