शिवसेना-कांग्रेस सरकार ने बंद किया मुंबई का सिद्धि विनायक मंदिर, जानिए वजह

महाराष्ट्र की शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी सरकार ने मुंबई की सिद्धि विनायक मंदिर को अगले आदेश तक बंद कर दिया है, समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, मुंबई की सिद्धिविनायक मंदिर को आज रात 8 बजे से ‘दर्शन’ के लिए अगले आदेश तक बंद कर दिया जाएगा। नियमित आरती और पूजा की जाएगी और वेबकास्ट किया जाएगा, यानि लाइव प्रसारण किया जाएगा।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के मामलें तेजी से बढ़ रहे हैं, शायद इसी वजह से महाविकास अघाड़ी सरकार ने मंदिर को बंद करनें का फैसला लिया है, हालंकि क्लब और और बॉर अभी भी खुले हुए हैं..आपको बता दें कि सिद्धि विनायक मंदिर को उद्धव सरकार ने लॉकडाउन लगते ही बंद कर दिया था, अनलॉक होनें के बाद जब लगभग सारी गतिविधियां शुरू हो गई थी तब भी सिद्धिविनायक मंदिर पर ताला लटकता रहा.

सिद्धि विनायक मंदिर को खुलवानें के लिए भारतीय जनता पार्टी ने जमकर प्रदर्शन किया था, उस समय महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे को सभी पूजा स्थलों को फिर से खोलने के संबंध में एक पत्र लिखकर कहा था, यह विडंबना है कि एक तरफ राज्य सरकार ने बार, रेस्तरां और समुद्र तट खोलने की अनुमति दे दी है जबकि दूसरी तरफ, हमारे देवी-देवताओं को लॉकडाउन में रहने के लिए दंडित किया गया है।

गवर्नर ने अपने पत्र में लिखा था, आप ( सीएम उद्धव ठाकरे ) हिंदुत्व के एक मजबूत समर्थक रहे हैं। आपने मुख्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभालने के बाद अयोध्या जाकर भगवान राम की सार्वजनिक रूप से भक्ति की वकालत की थी। मुझे आश्चर्य है कि क्या आपको मंदिरों को फिर से खोलने के फैसले में बार बार देरी करने के लिए कोई दिव्य चेतावनी मिल रही है या आप अचानक सेकुलर बन गए हैं।