आम आदमी ऑक्सीजन, बेड़ के लिए तड़प रहा और केजरीवाल ने अपने अधिकारियों के लिए होटल के 250 कमरे बुक कर दिए

कोरोना वायरस की दूसरी लहर कहर बरपा रही है, अस्पतालों में बेड्स नहीं है, जीवनरक्षक दवाओं की भीषण कमी देखी जा रही है, ऑक्सीजन की किल्लत मची है, श्मशान में शवों की लाइन लगी है, आम आदमी ऑक्सीजन, बेड़ के लिए तड़प रहा है, सांसों के लिए संघर्ष कर रहा है इन लोगों के लिए कुछ व्यवस्था करनें के बजाय दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने अपने मंत्रियों, अधिकारियों के लिए फाइव स्टार होटल में 250 कमरों को बुक कर दिया है.

बता दें कि दिल्ली सरकार ने अपने अधिकारियों को उनके परिजनों को संक्रमित होने पर इलाज के लिए होटलों में 250 कमरे रिजर्व किए हैं। दिल्ली सरकार ने 27 अप्रैल को एक आदेश में होटल जिंजर, होटल पार्क प्लाजा, होटल लीला एंबियंस और होटल गोल्डन ट्यूलिप एसेंशियल में AAP सरकार के अधिकारियों के इलाज के लिए आरक्षित करने के लिए के लिए कहा है। राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल और दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल को जिम्मेदारी दी गई है इलाज करनें की।

इससे पहले सीएम केजरीवाल ने दिल्ली हाईकोर्ट के जजों के लिए फाइव स्टार अशोका होटल के कमरें बुक करवाए थे, लेकिन हाईकोर्ट की फटकार के बाद बुकिंग रद्द कर दिए. केजरीवाल सरकार के इस आदेश के बाद भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने कहा है कि ‘किसी अफसर, मंत्री या MLA का 5 सितारा होटल में ईलाज नहीं होने देंगे अगर ये आर्डर रद्द नहीं हुआ, तो हम इन होटलों पर दिल्ली के साधारण लोंगो को लाकर जबरदस्ती ईलाज कराएंगे। एक एक सिलेंडर और बेड के लिए लोग तड़प रहे है, AAP की अय्याशी नहीं चलने देंगे