कपिल मिश्रा को हराने वाले AAP विधायक दोषी करार, 27 अप्रैल को होगा सजा पर फैसला

दिल्ली के मॉडल टाउन से आम आदमी पार्टी के विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी की मुश्किलें बढ़ गई हैं, सालों पुराने एक मामलें में अदालत ने आप विधायक को दोषी करार दिया है, दिल्ली की एक अदालत ने शुक्रवार को ‘आम आदमी पार्टी’ के विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी को 2013 के एक दंगा मामले में दोषी ठहराया, विधायक पर आरोप है कि उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं समेत तकरीबन 300 लोगों को पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान भड़काया। 27 अप्रैल को सजा पर फैसला होगा। इस मामलें में 21 व्यक्तियों पर मुकदमा चल रहा था, दो दोषियों के अलावा सभी को बरी कर दिया गया है.

ये मामला सितंबर 2013 में मॉडल टाउन के पास त्रिपोली गेट पर विरोध प्रदर्शन से जुड़ा हुआ है. दिल्ली पुलिस द्वारा दाखिल की गई चार्जशीट में विधायक पर आरोप है कि उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं समेत तकरीबन 300 लोगों को पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान भड़काया। पुलिस ने अपनी चार्जशीट में बताया है कि जिस दौरान यह प्रदर्शन किया गया था, उसको हिंसक बनाने में विधायक की अहम भूमिका रही, जिसमें 12 पुलिसकर्मियों को गंभीर चोटें भी आई थीं.

आपको बता दें कि पिछले साल दिल्ली में हुए विधानसभा चुनाव में अखिलेश पति त्रिपाठी आम आदमी पार्टी की टिकट पर चुनाव लड़े थे और भाजपा के दिग्गज नेता कपिल मिश्रा को हराया था।