हाईकोर्ट ने केजरीवाल सरकार को लगाई फटकार, कहा- ऑक्सीजन लाने के लिए टैंकर की व्यवस्था क्यों नहीं कर सकते?

कोरोना को लेकर चारों ओर त्राहिमाम मचा है, दिल्ली में तो हालात बहुत भयावह हैं, स्वास्थ्य व्यवस्था दम तोड़ चुकी है, अस्पतालों में बेड नहीं है, ऑक्सीजन की भारी किल्लत देखि जा रही है, एक अर्जी पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने आज दिल्ली की केजरीवाल सरकार को कड़ी फटकार लगाई। दरअसल ऑक्सीजन की कमी को लेकर दिल्ली की महाराजा अग्रसेन अस्पताल ने दिल्ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. अस्पताल की अर्जी पर दिल्ली हाईकोर्ट ने आज ( शनिवार ) को सुनवाई की, अस्पताल ने कहा कि 106 मरीज गंभीर स्थिति में है हमको ऑक्सीजन नहीं मिली तो हमें उन्हें भी डिस्चार्ज करना पड़ेगा।

ऑक्सीजन की समस्या पर दिल्ली हाई कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा, यह एक आपराधिक स्थिति है जिस तरह कार्रवाई की जा रही है। ऑक्सीजन को लेकर कदम उठाएं जा रहे है, उससे संतुष्ट नही है। इस मामले में हम किसी को भी नहीं छोड़ेंगे चाहे वह नीचे का अधिकारी हो चाहे वह कोई बड़ा अधिकारी हो। दिल्ली हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा एक सरकार के तौर पर आपकी भी जिम्मेदारियां बनती हैं. दिल्ली में रोज ऑक्सीजन की कमी की दिक्कत सामने आ रही है. आपको अपना खुद का ऑक्सीजन प्लांट लगाना चाहिए।

केंद्र सरकार के नोडल अधिकारी ने दिल्ली हाईकोर्ट में बताया कि उत्तर प्रदेश से 20 मेट्रिक टन ऑक्सीजन दिल्ली आना था, लेकिन टैंकर ना होने की वजह से नहीं आ सका. इसके बाद दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली की केजरीवाल सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि सभी राज्य अपने लिए ऑक्सीजन लाने के लिए टैंकर की व्यवस्था खुद कर रहे हैं। आप ऐसा क्यों नहीं कर सकते? आपके पास टैंकर नहीं है तो व्यवस्था कीजिए। केंद्र सरकार के अधिकारियों के संपर्क में रहिये। अब देखना यह दिलचस्प होगा कि ऑक्सीजन के लिए क्या केजरीवाल सरकार खुद टैंकर की व्यवस्था करती है या नहीं।