TMC की गुंडागर्दी पर लगेगी लगाम, बंगाल में तैनात होंगी केंद्रीय बलों की 71 अतिरिक्त कम्पनियाँ

पश्चिम बंगाल में आज चौथे चरण का चुनाव सम्पन्न हो गया, चौथे चरण में बंगाल में काफी हिंसा हुई है, खासकर कूचबिहार में टीएमसी के गुंडों ने जमकर उपद्रव किया, सीतलकुची (कूच बिहार) में आज मतदान स्थल पर तकरीबन 300-400 लोग एकत्रित हो गए, CISF जवानों का हथियार छीनकर जबरन बूथ में घुसने की कोशिश करने लगे. फायरिंग में चार लोगों की जान चली गई, इससे पहले मतदान शुरू होते ही टीएमसी के गुंडों ने कूचबिहार में भाजपा समर्थक आनंद बर्मन की गोली मारकर हत्या कर दी.

चुनाव के दौरान बंगाल में हो रही हिंसा को लेकर चुनाव आयोग सख्त हो गया है, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चुनाव आयोग ने गृह मंत्रालय को बंगाल में केंद्रीय बलों की 71 अतिरिक्त कंपनियों को तैनात करने का निर्देश दिया है. अब तक राज्य में शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए कुल 1,000 कंपनियों को तैनात किया गया था।

कूचबिहार के पुलिस अधीक्षक ( एसपी ) ने गोलीकांड की सच्चाई बताते हुए कहा, तकरीबन 300-350 लोगों ने CISF पर न सिर्फ हमला किया बल्कि हथियार छीनने और बूथ में घुसने की भी कोशिश की. कूचबिहार के एसपी देबाशीष धर ने बताया कि ‘एक आदमी की, तबियत खराब हुई और वो बेहोश हो गया, बूथ के सामने उसका इलाज चल रहा था। उस समय अफवाह फैल गई कि CISF ने उसे मारापीटा है। गांव के 300-350 लोगों ने CISF कर्मी पर हमला किया, राइफल ​छीनने और बूथ में घुसने की कोशिश के दौरान CISF ने फायरिंग की, एसपी ने कहा, इस घटना में 4 स्थानीय ग्रामीणों की मौत हुई है। इनकी उम्र 22-25 साल है।