कोरोना से महाराष्ट्र का हाल हुआ बेहाल, दूसरी लहर का पड़ा सबसे बुरा असर

देश में जारी कोरोना की दूसरी लहर का सबसे बुरा असर महाराष्‍ट्र पर पडा है। इसे देखते हुए तीसरी ऑक्‍सीजन एक्‍सप्रेस रेलगाडी आज राज्‍य में कलाम्‍बोली पहुंच रही है। पश्चिमी रेलवे के राजकोट डिविजन में गुजरात के हापा से पहुंचने वाली इस रेलगाडी में तरल चिकित्‍सा ऑक्‍सीजन के तीन टैंकर हैं। प्रत्‍येक टैंकर में 14 टन तरल चिकित्‍सा ऑक्‍सीजन है। इससे पहले, पहली ऑक्‍सीजन एक्‍सप्रेस 20 अप्रैल को विशाखापतनम से चल कर 21 अप्रैल को नागपुर पहुंची थी जिसमें सात टैंकर थे। रेलवे ने बताया है कि चौथी ऑक्‍सीजन एक्‍सप्रेस आज लखनऊ से रवाना हो रही है।

भारतीय रेल पिछले कुछ दिनों से ऑक्‍सीजन एक्‍सप्रेस रेलगाडियां चला रहा है ताकि तरल चिकित्‍सा ऑक्‍सीजन और ऑक्‍सीजन सिलेंडरों की आपूर्ति देशभर में की जा सके। इस बीच, अहमदनगर के जिलाधिकारी डॉ० राजेन्‍द्र भोसले ने आकाशवाणी से बातचीत में कहा कि ऑक्‍सीजन एक्‍सप्रेस के जरिये विशाखापतनम से दो टैंकरों में 34 के.एल. ऑक्‍सीजन जिले में पहुंच रही है। उन्होंने बताया कि इन टैंकरों के पहुंचने के बाद अहमदनगर जिले में ऑक्‍सीजन के भंडार में बढोतरी होगी।