छत्तीसगढ़ नक्सली हमला: राहुल गांधी ने सुरक्षा बलों के ‘संयुक्त ऑपेरशन’ पर ही उठा दिए सवाल

rahul-gandhi-attack-narendra-modi-sarkar

छत्तीसगढ़ के सुकमा-बीजापुर की सीमा पर जूनागढ़ गांव में शनिवार ( 3 अप्रैल, 2021 ) को नक्सलियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच हुई मुठभेड़ में सुरक्षाबल के 24 जवान शहीद हो गए हैं, 20 से ज्यादा जवान घायल हैं, जबकि कई नक्सली भी ठोंके गए हैं, नक्सलियों को काफी क्षति होने की ख़बर है। सुकमा में हुए बड़े नक्सली हमलें के बाद देशभर में आक्रोश है, चारों तरफ से नक्सलियों के खात्में की मांग उठ रही है, इन सबके बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ में सुरक्षा बलों के ‘संयुक्त ऑपेरशन’ पर ही सवाल उठा दिए हैं.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने CRPF के आधिकारिक बयान पर टिप्पणी करते हुए पूरे ऑपेरशन को ‘Incompetent’ यानि अक्षम करार दिया है। उन्हें शायद मालूम नही कि इस ऑपरेशन में छत्तीसगढ़ राज्य की पुलिस (STF+DRG) भी शामिल थी। राहुल गांधी के इस बयान की जमकर निंदा हो रही है..राहुल गांधी के इस बयान के बाद जम्मू कश्मीर के पूर्व डीजीपी एसपी वैद्य ने कहा, राहुल गांधी का बयान CRPF का अपमान है।

दरअसल राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा, अगर वहां कोई खुफिया नाकामी नहीं हुई तो फिर 1:1 के अनुपात में मृत्यु का मतलब है कि वहां पर अधूरी तैयारी के साथ ऑपरेशन किया गया, हम अपनें जवानों को इस तरह शहीद नहीं होनें दे सकते। राहुल गांधी को जवाब देते हुए जम्मू कश्मीर के पूर्व डीजीपी एसपी वैद्य ने कहा, मिस्टर राहुल गांधी मैं आमतौर पर राजनितिक मसलों पर बोलने से बचता हूँ, लेकिन मैं कश्मीर में ऑपरेशन का हिस्सा रहा हूँ, इसलिए मुझे आपका ट्वीट CRPF के लिए अपमानजनक लगता है, किसी ऑपरेशन में कितनी मौत होती है, ये घात लगाकर कायरों की तरह किये हमलें पर निर्भर करता है.

आपको बता दें कि सोमवार को अमित शाह सुकमा-बीजापुर बॉर्डर पहुंचे और नक्सली हमलें में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी, इसके बाद अमित शाह नक्सली हमलें में घायल सुरक्षाकर्मियों से मुलाक़ात करनें अस्पताल जाएंगे। अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा, छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का सामना करते वक्त शहीद हुए बहादुर सुरक्षाकर्मियों को जगदलपुर में श्रद्धांजलि अर्पित की। देश आपके शोर्य और बलिदान को कभी भुला नहीं पाएगा। पूरा देश शोक संतप्त परिवारों के साथ खड़ा है। अशांति के विरुद्ध इस लड़ाई को हम अंतिम रूप देने के लिए संकल्पित हैं।