श्रीलंका में बैन हुआ बुर्का, सरकार ने बुर्के को बताया राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा

burka-ban-in-kerala-collage

भारत के पडोसी देश श्रीलंका में बुर्का बैन कर दिया गया है, श्रीलंका की कैबिनेट ने एक दिन पहले ही उस ‘प्रस्ताव’ को मंजूरी दी है, जिसके तहत सार्वजनिक स्थानों पर नकाब या बुर्का पहनना प्रतिबंधित है. मार्च महीने में इस देश के सार्वजनिक सुरक्षा मंत्री सरथ वेरासेकेरा ने एक दस्तावेज पर हस्ताक्षर कर कैबिनेट से प्रस्ताव को पास करने की मांग की थी. श्रीलंका ने नकाब या बुर्के को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया है.

2019 में श्रीलंका की राजधानी कोलम्बों में ईस्टर में हुए आत्मघाती बम धमाकों में 260 से अधिक लोगों के मारे जाने के बाद बुर्का पहनने पर अस्थायी रूप से प्रतिबंध लगा दिया गया था। इस्लामिक स्टेट समूह से जुड़े दो स्थानीय मुस्लिम संगठनों को छह स्थानों पर हमलों के लिए दोषी ठहराया गया था – दो रोमन कैथोलिक चर्च, एक प्रोटेस्टेंट चर्च और तीन होटल। हमलावर बुर्के में आये थे.

पिछले महीने, पाकिस्तानी राजदूत साद खट्टक ने ट्वीट किया था कि बुर्का प्रतिबंध से मुसलमानों की भावनाएं आहत होंगी। हालाँकि पाकिस्तानी राजदूत की बातों को दरकिनार करते हुए श्रीलंका ने अब बुर्के को स्थाई रूप से बैन कर दिया है. श्रीलंका के 22 मिलियन लोगों में से 9% लोग मुस्लिम हैं, 70% से अधिक बौद्ध हैं। अल्पसंख्यक तमिल, जो मुख्य रूप से हिंदू हैं, लगभग 15% शामिल हैं।

श्रीलंका से पहले हाल ही में स्विट्जरलैंड ने बुर्के पर प्रतिबन्ध लगाया था, जनमत संग्रह के बाद बुर्के को बैन किया गया था, इसके अलावा नीदरलैंड, फ्रांस, ऑस्ट्रिया, जर्मनी, बेल्जियम और डेनमार्क में भी बुर्का बैन है.