अगले परमबीर सिंह हो सकते हैं अनिल देशमुख, देखो अब देशमुख किसे निपटाते हैं!

पिछले महीनें मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर दावा किया था कि गृहमंत्री अनिल देशमुख ने सस्पेंडेड API सचिन वाजे को कहा था हर महीने 100 करोड़ की वसूली चाहिए। इस चिट्ठी के सामनें आने के बाद महाराष्ट्र की सियासत में भूचाल आ गया. और अंततः अब सीबीआई इस मामलें की जांच करेगी, सीबीआई जांच शुरू होने से पहले अनिल देशमुख ने अपने गृहमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. अनिल देशमुख के इस्तीफे के बाद कई तरह की अटकलें लगाईं जा रही हैं.

सोशल मीडिया पर इस बात की चर्चा बहुत जोरों पर है कि अनिल देशमुख अगले परमबीर सिंह हो सकते हैं, बस समझने वाली बात इतनी है कि परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख को निपटाया। अब देखना दिलचस्प होगा कि अनिल देशमुख किसको निपटाते हैं..गौरतलब है कि मुंबई पुलिस कमिश्नर की कुर्सी छीनने के बाद परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख पर 100 करोड़ की वसूली करवानें का गंभीर आरोप लगाए दिया, इस आरोप के बाद ही अनिल देशमुख की कुर्सी गई.

सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि परमवीर सिंह को हटाया तो वे 100 करोड़ हर महीनें वसूली का खुलासा कर गए। अब अनिल देशमुख भी गृहमंत्री पद से हट गए हैं. अब देखमुख कब क्या पोल खोल दें कोई पता नहीं। फ़िलहाल अनिल देशमुख लगे आरोपों की जांच सीबीआई करेगी और 15 दिनों के भीतर रिपोर्ट दाखिल करेगी।

परमबीर सिंह की याचिका पर सुनवाई करते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट ने देशमुख के खिलाफ सीबीआई जाँच का आदेश दिया, दरअसल मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर दावा किया था कि गृहमंत्री अनिल देशमुख ने सचिन वाजे को कहा था हर महीने 100 करोड़ की वसूली चाहिए। इस चिट्ठी के सामनें आने के बाद महाराष्ट्र की सियासत में भूचाल आ गया. अनिल देशमुख का बचाव करते हुए एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने परमबीर की चिट्ठी की टाइमिंग पर सवाल उठा दिए थे, इसके बाद परमबीर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका करके इस मामलें की जांच सीबीआई से करानें की मांग की थी, हालाँकि सुप्रीम कोर्ट ने परमबीर की याचिका पर सुनवाई नहीं की, बॉम्बे हाईकोर्ट जानें की सलाह दी थी.

loading...