लापरवाही ने ली जान: राजस्थान में बिजली जानें से बंद हुआ ऑक्सीजन प्लांट, 8 लोगों की मौत

Photo Credit -www.unicef.org

देशभर में कोरोना वायरस जमकर कहर बरपा रहा है, कोरोना से ज्यादा स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में लोगों की जान जा रही है, ताजा मामला राजस्थान से आया है, जहाँ बिजली जानें के कारण ऑक्सीजन प्लान्ट बंद होनें से आठ मरीजों की मृत्यु हो गई, एक अख़बार में छपी खबर के मुताबिक़, राजस्थान के बाड़मेर जिले के बालोतरा में गुरूवार सुबह नाहटा राजकीय अस्पताल में बिजली जानें के बाद प्लांट बंद हो गया. जिसकी वजह से कोरोना संक्रमित आठ मरीजों की मौत हो गई.

अस्पताल में भर्ती कोरोना मरीज के एक परिवारजन ने अस्पताल में हुई लापरवाही की जानकारी सोशल मीडिया के जरिये दी है, वहीँ अस्पताल प्रशासन ने भी सफाई देते हुए कहा है कि बिजली कुछ मिनट के लिए गई थी लेकिन ऑक्सीजन प्लांट बंद नहीं हुआ, अस्पताल प्रशासन ने आठ मरीजों की मौत की बात भी स्वीकार की है. अस्पताल के पीएमओ डॉ बलराज सिंह पंवार ने बताया कि सुबह कुछ मिनट के लिए लाइट गई थी, तुरंत जनरेटर चलाया गया था, जिस समय बिजली गई थी उस समय 33 लोग ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे.

आपको बता दें कि राजस्थान में कोरोना मरीजों की संख्या 5 लाख 80 हजार से ज्यादा हो गई है, अबतक कोरोना से 4 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, पिछले 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 17403 नए केस आये।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार रात को अधिकारियों से कहा कि वे लॉकडाउन के तहत लगाए गए प्रतिबंधों को जारी रखें और कोरोनोवायरस के प्रसार को रोकने के लिए उन्हें और अधिक कठोर बनाएं। वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए COVID-19 की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए गहलोत ने कहा कि राज्य में तेजी से फैल रहे संक्रमण के मद्देनजर कड़े दिशानिर्देशों की आवश्यकता है। राजस्थान में 19 अप्रैल से 3 मई तक लॉकडाउन है, सीएम ने कहा है कि 3 मई के बाद भी प्रतिबंधों को जारी रखा जाय।