छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ के बाद 15 जवान लापता, कल 5 जवान हुए थे शहीद

Image Credit-ANI

छत्तीसगढ़ के सुकमा-बीजापुर की सीमा पर जूनागढ़ गांव में शनिवार ( 3 अप्रैल, 2021 ) को नक्सलियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच मुठभेड़ हो गई थी, शुरुवात में खबर मिली थी कि इस मुठभेड़ में सुरक्षाबल के पांच जवान शहीद हो गए हैं जबकि 15 जवान घायल हैं, अब खबर मिल रही है क़ी सुरक्षाबल के 15 जवान लापता हो गए हैं..जिनकी तलाश जारी है. इस मुठभेड़ में एक महिला नक्सली का शव मिला है। नक्सलियों को काफी क्षति होने की ख़बर है। गौरतलब है कि सुकमा नक्सलग्रस्त इलाका है, आये दिन नक्सली यहाँ घात लगाकर सुरक्षाबलों को निशाना बनाते रहते हैं

बताया जा रहा है कि सुकमा के घने जंगल वाले इलाके में नक्सलियों ने घात लगाकर सुरक्षाबलों को निशाना बनाया, उसके बाद दोनों तरफ से फायरिंग शुरू हो गई, ये मुठभेड़ लगातार पांच घंटे से जारी है, लेकिन इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों के पांच जवानों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। 10 जवान घायल हैं जबकि 15 जवान लापता हैं..नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में जान गंवाने वाले सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन के एक जवान के पार्थिव शरीर को जगदलपुर लाया गया।

छत्तीसगढ़ पुलिस सूत्र के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआई ने जानकारी दी है कि कल सुकमा में हुई मुठभेड़ के बाद कम से कम 15 जवान लापता हैं। मुठभेड़ में जान गंवाने वाले 5 जवानों में से 2 जवानों के शव बरामद हुए हैं। घायल हुए जवानों में से 23 को बीजापुर अस्पताल और 7 को रायपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सुकमा में नक्सलियों से मुठभेड़ में घायल हुए जवानों को बेहतर इलाज की सुविधा मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर कहा, बीजापुर-सुकमा जिले की सीमा पर सुरक्षा बलों और नक्सली मुठभेड़ में 5 जवानों के शहीद होने का समाचार दुखद है। मेरी संवेदनाएं शहीदों के परिजनों के साथ हैं। हमारे सुरक्षा बलों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी।