पहले मुंबई में अंडरवर्ल्ड वाले वसूली करते थे, अब पुलिस वसूली करके मंत्री तक पहुँचाती है: रजत शर्मा

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक चिट्ठी लिखकर दावा किया है कि गृहमंत्री अनिल देशमुख ने सचिन वाजे को कहा था हर महीने 100 करोड़ रूपये की वसूली चाहिए। अब इस मामलें ने तूल पकड़ लिया है..वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने इस मामलें पर कटाक्ष करते हुए लिखा, पहले मुंबई में अंडरवर्ल्ड वाले वसूली करते थे, अब पुलिस वसूली करके मंत्री तक पहुँचाती है..

समाचार चैनल इण्डिया टीवी के मालिक रजत शर्मा ने अपने ट्वीट में लिखा, क्या ज़माना आ गया है. पहले मुंबई में अंडरवर्ल्ड वाले लोगों से वसूली करते थे और पुलिस उन्हें पकड़ती थी. अब पुलिस वसूली करती है और मंत्री तक पहुँचाती है. पहले आतंकवादी बम लगाते थे और पुलिस उन्हें पकड़ती थी. अब पुलिस अफ़सर बम लगाते हैं और सबसे बड़े उद्योगपति को धमकाते हैं.

वहीं मनसे नेता राज ठाकरे ने कहा, पहले आतंकी बम रखते थे अब पुलिस रखने लगी है, ये कभी सोंचा नहीं था, उन्होंने कहा कि इस मामलें में केंद्र सरकार दखल दे क्योंकि महाराष्ट्र सरकार निष्पक्षता से जांच नहीं कर सकती। उन्होंने कहा की सचिन वाजे उद्धव ठाकरे का करीबी है।

राज ठाकरे ने कहा, मुकेश अम्बानी के घर के बाहर खड़ी गाडी में जिलेटिन की छडे मिली थी, जैसा की आरोप लग रहा है गाडी को पुलिस ने पार्क किया था, उन्होंने कहा, केंद्र को इस मामलें में हस्तक्षेप करना चाहिए कि गाडी वहां किसने पार्क किया था, ठाकरे का कहना है कीं अगर इस मामलें की ढंग से जांच की गई तो बड़े-बड़े चेहरे बेनकाब होंगे।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले मुंबई में उद्योगपति मुकेश अम्बानी के घर के बाहर एक SUV खड़ी थी, उसमें जिलेटिन की छडे थी, गृह मंत्रालय ने इस मामलें की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA ) सौंपी है, NIA ने इस मामलें में मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे को गिरफ्तार कर लिया है, अभी तक जांच में यह सामने आया है कि मुकेश अम्बानी के घर के बाहर विस्फोटक से भरी गाडी खडी करने में सचिन वाजे का हाथ है।