झारखंड: रोड पर नवाज पढ़ने वालों पर कार्यवाही के बजाय फोटो खींचकर वायरल करने वाले 3 हिंदुओं को जेल भेजा गया

सोशल मीडिया पर कल एक झारखंड के हजारीबाग की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, जिसमें देखा जा सकता है कि मुस्लिम समुदाय के कुछ लोग रोड जाम करके बीचों-बीच सड़क पर नवाज पढ़ते दिखाई दिए थे, इस तस्वीर के वायरल होनें के बाद बवाल मच गया है, हजारीबाग के भाजपा मनीष जायसवाल रोड़ जामकर नवाज पढ़ने को गलत ठहराते हुए कहा कि इस संबंध में उन्होंने जिला प्रशासन से बात कर मामले में यथाशीघ्र कार्रवाई करने की मांग की।

अब इस मामलें में एक बड़ी जानकारी निकलकर सामने आई है, रोड़ जाम करके नवाज पढ़ने वालों पर कार्यवाही करने के बजाय फोटो खींचकर वायरल करने वाले 3 हिंदुओं को जेल भेज दिया गया है, यह जानकारी सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत पटेल ने ट्वीट करके दी है…उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, रास्ता ब्लॉक करके लंबा जाम लगा कर नमाज पढ़ने वालों पर कार्यवाही करने की बजाय फोटो खींचकर इसे वायरल करने वाले 3 हिंदुओं पर हिंसा भड़काने की कोशिश का आरोप लगाकर जेल भेज दिया गया है।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर में देखा जा सकता है कि सड़क पर बीचों-बीच नमाज अदा करने से दोनों ओर सड़कों पर जाम लग गया है, सामाजिक कार्यकर्त्ता तसलीमा नसरीन ने कहा कि किसी भी धर्म में मानवता को परेशान करने की अनुमति नहीं दी जाती। तसलीमा नसरीन ने ट्वीट कर कहा कि इन बच्चों को सजा नहीं मिलनी चाहिए, बल्कि उन्हें सजा मिलें, जिसने बच्चों को सामने कर सड़क जाम कराया।