राज ठाकरे का धमाकेदार बयान, पहले आतंकी रखते थे बम, अब उद्धव की पुलिस रखने लगी है

देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अम्बानी के घर एंटीलिया के बाहर खड़ी विस्फोटक से लदी गाड़ी मामलें मुंबई पुलिस के API सचिन वाजे ( अब सस्पेंड हो गए हैं ) कि गिरफ़्तारी के बाद मनसे नेता राज ठाकरे ने धमाकेदार बयान दिया है, ठाकरे ने कहा है कि पहले आतंकी बम रखते थे अब पुलिस रखने लगी है, ये कभी सोंचा नहीं था, उन्होंने कहा कि इस मामलें में केंद्र सरकार दखल दे क्योंकि महाराष्ट्र सरकार निष्पक्षता से जांच नहीं कर सकती। उन्होंने कहा की सचिन वाजे उद्धव ठाकरे का करीबी है।

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह की चिट्ठी का जिक्र करते हुए राज ठाकरे ने कहा, मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह की मुख्यमंत्री को लिखी चिठ्ठी विस्फोटक है। इससे महाराष्ट्र की छवि धूमिल हुई है, ठाकरे ने अनिल देशमुख के इस्तीफे की भी मांग की है।

परमबीर सिंह के तबादले को लेकर राज ठाकरे ने कहा, उन्हें क्यों हटाया गया, सरकार ने अभी तक यह स्पष्ट नहीं किया कि परमबीर का तबादला क्यों किया गया, राज ठाकरे ने पूछा, क्या परमबीर का भी इससे कोई लेना-देना था? क्या वे भी इसमें शामिल थे? उन्हें क्यों हटाया गया। अगर यदि वह शामिल थे तो उनसे पूछताछ क्यों नहीं की गई, अगर नहीं शामिल थे तो उनका तबादला क्यों किया गया।

राज ठाकरे ने कहा, मुकेश अम्बानी के घर के बाहर खड़ी गाडी में जिलेटिन की छडे मिली थी, जैसा की आरोप लग रहा है गाडी को पुलिस ने पार्क किया था, उन्होंने कहा, केंद्र को इस मामलें में हस्तक्षेप करना चाहिए कि गाडी वहां किसने पार्क किया था, ठाकरे का कहना है कीं अगर इस मामलें की ढंग से जांच की गई तो बड़े-बड़े चेहरे बेनकाब होंगे।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले मुंबई में उद्योगपति मुकेश अम्बानी के घर के बाहर एक SUV खड़ी थी, उसमें जिलेटिन की छडे थी, गृह मंत्रालय ने इस मामलें की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA ) सौंपी है, NIA ने इस मामलें में मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे को गिरफ्तार कर लिया है, अभी तक जांच में यह सामने आया है कि मुकेश अम्बानी के घर के बाहर विस्फोटक से भरी गाडी खडी करने में सचिन वाजे का हाथ है।