मिथुन चक्रवर्ती को टक्कर देने के लिए रिया चक्रवर्ती को TMC में शामिल कर सकती हैं ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव चरम पर है, कल ( 7 मार्च 2021 ) को कोलकाता के ब्रिगेड मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मेगा रैली करके ने भाजपा ने अपनी ताकत दिखाई, ब्रिगेड मैदान में ही कल अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती ने भाजपा का दामन थामा, मिथुन चक्रवर्ती पश्चिम बंगाल की संस्कृति का अभिन्न हिस्सा हैं, जो फिल्मों से लेकर राजनीतिक जीवन में कई अहम किरदार निभा चुके हैं।

मिथुन भारतीय सिनेमा में बंगाल के सबसे सफल सितारों में एक हैं, बंगाल की राजनीति को करीब से समझने वालों का मानना है कि मिथुन के जरिये भाजपा बंगाल में गांव-गरीब और मजदूरों तक पहुंच बनाना चाहती है। मिथुन के भाजपा में आने से पार्टी को काफी मजबूती मिली है, क्योंकि उसे पश्चिम बंगाल की क्षेत्रीय अस्मिता से जुड़े ऐसे विशिष्ट लोगों की जरूरत थी, वह काम मिथुन बखूबी निभा सकते हैं।

मिथुन चक्रवर्ती के भाजपा में शामिल होने के बाद तृणमूल कांग्रेस ( टीएमसी ) की चिंताएं बढ़ गई हैं, सूत्रों के हवाले से खबर मिल रही है कि मिथुन चक्रवर्ती को टक्कर देने के लिए ममता बनर्जी अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती को टीएमसी में शामिल करा सकती हैं, हालाँकि किसी टीएमसी नेता ने इसकी पुष्टि नहीं की, सूत्रों के मुताबिक़, टीएमसी नेताओं का कहना है कि ‘लोहे को लोहा ही काट सकता है’ यानि अगर मिथुन बॉलीवुड से हैं तो उन्हें बॉलीवुड का ही कोई व्यक्ति टक्कर दे सकता है, ऐसे में रिया चक्रवर्ती बिल्कुल सटीक बैठेंगी। रिया चक्रवर्ती की लोकप्रियता में भी कोई कमी नहीं है…सुशांत केस में ड्रग्स एंगल में नाम आने के बाद रिया चक्रवर्ती ने जमकर सुर्खियां बटोरीं थी।

आपको बता दें कि ड्रग्स मामलें में गिरफ्तार कर नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ( एनसीबी ) ने जब रिया चक्रवर्ती को जेल भिजवाया था तब टीएमसी ने इसका पुरजोर विरोध किया था, तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता सौगत राय ने कहा था मुझे लगता है कि क्योंकि रिया एक बंगाली है, अदालत में दोषी साबित होने से पहले ही वह शोषित है. दुष्प्रचार अभियान एक बार फिर से बंगालियों के प्रति भाजपा की घृणा साबित करता है. यानि टीएमसी रिया चक्रवर्ती से पहले से ही लगाव रखती है। अब अगर टीएमसी रियाच क्रवर्ती को पार्टी में शामिल करा ले तो किसी को हैरानी नहीं होनी चाहिए।