कर्नाटक: रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक मस्जिद में अजान के दौरान लाउडस्पीकर के प्रयोग पर लगा प्रतिबन्ध

image credit - oneindia

कर्नाटक राज्य वक्फ बोर्ड ने बड़ा फैसला लेते हुए रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक अजान के दौरान लाउडस्पीकर के प्रयोग पर प्रतिबन्ध लगा दिया है, इसके साथ ही अस्पतालों, शैक्षणिक संस्थानों और अदालतों के आसपास 100 मीटर से कम दूरी के क्षेत्रों को साइलेंस ज़ोन घोषित कर दिया है…

इण्डिया टुडे के मुताबिक, ध्वनि प्रदूषण को रोकने के लिए वक्फ बोर्ड ने लाउडस्पीकर के उपयोग पर रोक लगाने का निर्णय लिया है। कर्नाटक राज्य वक्फ बोर्ड का कहना है कि जो भी कोई साइलेंस ज़ोन में एंपलीफायर, आवाज करने वाले पटाखों, लाउडस्पीकर, पब्लिक एड्रेस सिस्टम का इस्तेमाल करेगा वो पर्यावरण संरक्षण अधिनियम, 1986 के प्रावधानों में दंड के लिए उत्तरदायी होगा।

वक्फ बोर्ड ने सख्ती से आदेश का पालन करने के लिए मस्जिदों और दरगाहों को निम्नलिखित निर्देश दिए हैं।

1. रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।
2. लाउडस्पीकर का उपयोग केवल अज़ान और महत्वपूर्ण घोषणाओं जैसे कि मृत्यु, दफनाने का समय, चंद्रमा के निकलने आदि के लिए किया जाएगा।
3. किसी भी अवसर पर मस्जिद और दरगाहों के आसपास किसी भी तरह के ध्वनि-पटाखे नहीं जलाए जाएंगे।

कर्नाटक राज्य वक्फ बोर्ड के इस फैसले का एसडीपीआई ने विरोध किया है, एसडीपीआई के प्रदेश अध्यक्ष अब्दुल हन्नान ने कहा कि बोर्ड का कुरान, नमाज और अजान से कोई लेना-देना नहीं है।