पाकिस्तान के पास नहीं है वैक्सीन खरीदने का पैसा, इमरान ने पाकिस्तानी जनता को अल्लाह के भरोसे छोड़ा

देश-दुनिया में कोरोना का प्रकोप जारी है, भारते समेत दुनिया के कई देशों ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बड़ी जीत हासिल करते हुए वैक्सीन निर्मित कर ली है, भारत तो दुनिया के कई देशों को वैक्सीन मुफ्त में दे भी चुका है, वहीँ पडोसी देश पाकिस्तान के पास वैक्सीन खरीदने के लिए पैसा नहीं है, भारत से उतने अच्छे रिश्ते भी नहीं हैं कि भारत पाकिस्तान को फ्री वैक्सीन दे दे, प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तानी आवाम को अल्लाह के भरोसे छोड़ दिया है.

संकट से घिरी पाकिस्तान की इमरान खान सरकार कोरोना महामारी के बीच अपने देशवासियों को टीके के लिए खैरात के भरोसे छोड़ने को तैयार है। इमरान सरकार फिलहाल कोरोना महामारी से निपटने के लिए हर्ड इम्यूनिटी और साथी देशों से मुफ्त में मिलने वाली कोरोना वैक्सीन पर निर्भर रहेगी। नेशनल हेल्थ सर्विसेज के सेक्रटरी आमिर अशरफ ख्वाजा ने गुरुवार को पब्लिक अकाउंट्स कमेटी की ब्रीफिंग के दौरान यह जानकारी दी है।

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हेल्थ एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर मेजर जनरल आमिर इकराम के मुताबिक, चीन की बनाई कोरोना वैक्सीन के एक डोज की कीमत 13 डॉलर है। उन्होंने यह भी बताया कि पाकिस्तान वैक्सीन के लिए अंतरराष्ट्रीय डोनर्स और चीन जैसे साथी देशों पर निर्भर है। क्योंकि वैक्सीन खरीदने के लिए पाकिस्तान के पास पैसा नहीं है।

loading...