सभी रोहिंग्याओं को भारत में ही रखा जाए, प्रशांत भूषण के जरिये सुप्रीम कोर्ट में दायर हुई याचिका

जम्मू कश्मीर में अवैध रूप से रह रहे रोहिंग्या मुसलामानों की पहचान कर उन्हें होल्डिंग सेंटर में डाला जा रहा है, अब ये मसला सुप्रीम कोर्ट में पहुँच गया है, वकील प्रशांत भूषण के जरिये सर्वोच्च अदालत में दायर की गई याचिका में कई मांग की गई है, याचिका में रोहिंग्याओं के न सिर्फ भारत में रहने की मांग की गई है बल्कि इन्हें शरणार्थी का दर्जा देने की भी मांग की गई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में वकील प्रशांत भूषण के जरिये याचिका दायर की गई है, मांग की गई है कि जो रोहिंग्या होल्डिंग सेंटर में डाले गए हैं उन्हें फौरन रिहा किया जाय, रोहिंग्याओं को म्यांमार न भेजा जाय. पूरे भारत में रह रहे रोहिंग्या लोगों को शरणार्थी का दर्जा मिले। इसके अलावा मांग की गई है कि कोर्ट UNHCR से दखल के लिए कहे. इस याचिका पर कब सुनवाई होगी अभी इसकी जानकारी सामने नहीं आ पाई है.

आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर में भारी मात्रा में रोहिंग्या रह रहे हैं, अब इनकी पहचान कर इन्हें होल्डिंग सेंटर में डाला जा रहा है, बहुत सी घटनाओं में रोहिंग्याओं को संलिप्त पाया गया है, इसलिए प्रसाशन ने कार्यवाही शुरू की है..कठुआ जिले की उप-जेल जो हीरानगर में है फिलहाल रोहिंग्या के लिए ‘होल्डिंग सेंटर’ है. सभी को वहीं रखा गया है.