दत्तात्रेय होसबाले बनें RSS के नए सरकार्यवाह, जानिए कैसे हुई नियुक्ति

दत्तात्रेय होसबाले दुनिया के सबसे बड़े संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ( आरएसएस ) के सरकार्यवाह चुने गए हैं, दत्तात्रेय होसबाले अगले तीन वर्षों तक इस पद पर बने रहेंगे, बेंगलुरु के चेन्नहल्ली स्थित जनसेवा विद्या केंद्र में चल रहे प्रतिनिधि सभा की बैठक के अंतिम दिन शनिवार को संघ की प्रतिनिधि सभा ने सर्वसम्मति से दत्तात्रेय होसबाले को नया सरकार्यवाह चुना। दत्तात्रेय 2009 से सह सरकार्यवाह का दायित्व निर्वहन कर रहे थे।

आपको बता दें कि तीन साल में चुनावी प्रक्रिया के तहत जिला संघचालक, विभाग संघचालक, प्रांत संघचालक, क्षेत्र संघचालक के साथ साथ सरकार्यवाह नियुक्त होते हैं, आवश्यकतानुसार बीच में भी कुछ पदों पर बदलाव होता रहता है। क्षेत्र प्रचारक और प्रांत प्रचारकों के दायित्व में बदलाव भी प्रतिनिधि सभा की बैठक में होती है। संघ में प्रतिनिधि सभा निर्णय लेने वाला विभाग है।

दत्तात्रेय होसबाले भैयाजी जोशी के स्थान पर सरकार्यवाह चुने हैं, इससे पहले इस पद पर भैया जी जोशी थे, हालांकि 2018 के चुनाव में भय्याजी ने सरकार्यवाह के दायित्व से मुक्त करने का आग्रह किया था, लेकिन उनके नेतृत्व में संघ के बढ़ते कामों को देखते हुए संघ ने उन्हें फिर से यह दायित्व देने का निर्णय लिया था। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) में सरसंघचालक के बाद सरकार्यवाह का पद सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। इस समय आरएसएस के सरसंघचालक मोहन भागवत हैं.