वैदिक पूजन के साथ अयोध्या में शुरू हुआ श्री राम मंदिर निर्माण के लिए नींव भराई का कार्य

रामभक्तों के लिए एक बड़ी खुशखबरी आई है, वैदिक पूजन के साथ ही आज से अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के लिए नींव भराई का कार्य प्रारम्भ हो गया, इस दौरान श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के पदाधिकारी तथा कई प्रसाशनिक अधिकारी मौजूद रहे, इसकी जानकारी श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने ट्वीट करके दी है.

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के ऑफिसियल ट्विटर हैंडल से किये गए ट्वीट में लिखा गया है कि आज प्रातःकाल शुभ मुहूर्त में श्रीराम जन्मभूमि स्थल पर, वैदिक पूजन के साथ ही श्री राम मंदिर निर्माण हेतु नींव भराई का कार्य प्रारंभ हो गया है। इस अवसर पर श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के पदाधिकारी तथा वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित रहे। गौरतलब है कि राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट ने निधि समर्पण अभियान चल रखा था, जो शनिवार ( 27 फरवरी, 2021 ) को संपन्न हो गया. राम मंदिर के लिए विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकर्ताओं ने लगभग पांच लाख गाँवों में चंदा माँगा।

राम मंदिर समर्पण निधि के तहत अब तक 2100 करोड़ रुपए से अधिक आ चुके हैं. शनिवार और रविवार को बैंक अवकाश होने के कारण कुल कितनी धनराशि इकट्ठा हुई इसकी जानकारी सोमवार को ही सामने आ सकेगी. लेकिन शुक्रवार तक इस अभियान में 2100 करोड़ की धनराशि श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के बैंक खाते में जमा हो चुकी है. जबकि, अभी समर्पण निधि के तहत प्राप्त की गई चेक की राशि बैंक खाते में क्लीयर नहीं हुई है..

बता दें कि निधि समर्पण अभियान में पहला दान भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया था, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राम मंदिर निर्माण के लिए 5 लाख रूपये का महादान किया था, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी मंदिर निर्माण के लिए अपने निजी कोष से 2 लाख रूपये दान किया था.

आपको बता दें कि पहले 70 एकड़ के अंदर राममंदिर बनना था, लेकिन अब 107 एकड़ में राम मंदिर बनेगा, श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने राम जन्मभूमि परिसर के पास 7,285 वर्ग फुट जमीन खरीदी है। अयोध्या में भव्य मंदिर का निर्माण कर रहे ट्रस्ट ने 7,285 वर्ग फुट जमीन की खरीद के लिए 1,373 रुपये प्रति वर्ग फुट की दर से एक करोड़ रुपये का भुगतान किया है।