कांग्रेस में बढ़ी तकरार, अधीर रंजन चौधरी ने आनंद शर्मा को जमकर सुनाई खरी-खोटी

कांग्रेस का भविष्य इस समय अंधकार में है, एक तरफ जहाँ देश के कई राज्यों में विधानसभा चुनाव हो रहा है तो दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी आपसी कलह शुरू हो गई है, एक तरफ गांधी परिवार के वफादार हैं तो दूसरी तरफ गुलाम नबी आजाद, कपिल सिब्बल समेत G-23 के नेता। दो कांग्रेस नेताओं की लड़ाई का असर चुनाव में जरूर दिख सकता है.

दरअसल बंगाल विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने लेफ्ट और ISF से गठबंधन किया है, जिसपर सवाल उठाते हुए आनंद शर्मा ने कहा कि बंगाल में ISF के साथ कांग्रेस का गठबंधन सेकुलरिज्म के खिलाफ है, ISF से कांग्रेस का गठबंधन सेकुलरिज्म के खिलाफ है. अब आनंद शर्मा पर पलटवार करते हुए अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि किसी को खुश करने को दिया बयान, BJP की तरह हमको कम्युनल ठहराना चाहते हैं।

कांग्रेस के राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा ने अपने ट्वीट में लिखा, कांग्रेस के राज्यसभा सांसद आनंद शर्मा ने अपने ट्वीट में लिखा, आईएसएफ और ऐसे अन्य दलों के साथ कांग्रेस का गठबंधन पार्टी की मूल विचारधारा, गांधीवाद और नेहरूवादी धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ है, जो कांग्रेस पार्टी की आत्मा है। इन मुद्दों को कांग्रेस कार्य समिति पर चर्चा होनी चाहिए थी। उन्होंने आगे लिखा, सांप्रदायिकता के खिलाफ लड़ाई में कांग्रेस चयनात्मक नहीं हो सकती है। हमें हर सांप्रदायिकता के हर रूप से लड़ना है। पश्चिम बंगाल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की उपस्थिति और समर्थन शर्मनाक है, उन्हें अपना पक्ष स्पष्ट करना चाहिए।

आनंद शर्मा पर पलटवार करते हुए बंगाल के कांग्रेस अध्यक्ष अधीर चौधरी ने कहा कि वो किसी को खुश करने को बयान दिया है, BJP की तरह हमको कम्युनल ठहराना चाहते हैं। मुझसे फोन उठा के एक बार पूछ लेते। नेतृत्व को नुकसान पहुंचाना चाहते हैं। ऐसे अर्मा-शर्मा को बंगाल में कोई नहीं पहचानता। ठप-ठन गोपाल के कहने से क्या होगा। एबीपी न्यूज़ से बात करते हुए अधीर रंजन ने कहा, ”मुझे तो बेहद अजीब लग रहा है कि आनंद शर्मा हमारी पार्टी में रहते हुए दूसरों की बात कैसे कर सकते हैं.

loading...