सुरेश चव्हाणके ने रिंकू शर्मा के परिवार को दिया 1 लाख रु. का सहयोग, 1 सदस्य को सुदर्शन में नौकरी भी देगें

दिल्ली के मंगोलपुरी में बुधवार को रामभक्त रिंकू शर्मा की बेरहमी से ह्त्या कर दी गई, दरिंदों ने 26 वर्षीय रिंकू शर्मा की चाक़ू घोंपकर ह्त्या कर दी, रिंकू बजरंग दल का कार्यकर्ता भी थे, वे अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए चलाए जा रहे धन संग्रह अभियान में सक्रिय थे। इस मामले में पुलिस ने पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान मोहम्मद इस्लाम, दानिश, नसीरुद्दीन, दिलशान और दिलशाद और ताजुद्दीन के तौर पर हुई है। वारदात के इलाके में तनाव बना हुआ है।

इस मामलें को सुदर्शन न्यूज़ शुरुवात से ही जोर शोर से उठा रहा है, अब सुदर्शन न्यूज़ के प्रधान संपादक सुरेश चव्हाणके ने मृतक रिंकू शर्मा के परिवार की एक लाख रूपये आर्थिक मदद भी की, साथ में परिवार के एक सदस्य को सुदर्शन में नौकरी देने का ऐलान भी किया। वरिष्ठ पत्रकार व् सुदर्शन न्यूज़ के मालिक सुरेश चव्हाणके आज खुद मृतक रिंकू शर्मा के घर पहुंचे और उनकी माता जी को एक लाख रूपये का चेक सौंपा, इसके साथ ही चव्हाणके ने कहा कि अगर आपके बच्चे को सरकारी नौकरी न मिली तो सुदर्शन में नौकरी पक्की है।

सुरेश चव्हाणके ने अपने ट्वीट में लिखा, सुदर्शन परिवार के ओर से #RinkuSharma के परिवार को दिया 1 लाख रुपये का सहयोग..परिवार के एक सदस्य को सुदर्शन में नौकरी भी देगें। उन्होंने आगे लिखा, स्टूडियो से नहीं बल्कि जमीन पर उतर कर हिंदुओं के अस्तित्व की लड़ाई लड़ता है सुदर्शन न्यूज़।

मृतक रिंकू के भाई अंकित के मुताबिक़, बुधवार की देर रात हमलावरों ने उनके घर का दरवाजा खटखटाया और दरवाजा खोलते ही सभी हमलावर जबरन घर में घुस आए और उनके बड़े भाई रिंकू पर चाकू से वार कर दिया। इसके बाद हमलावर मौके से फरार हो गए। हमले में गंभीर रुप से घायल रिंकू को मंगोलपुरी के संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां गुरुवार की दोपहर 12 बजे उनकी मौत हो गई। बीते महीने इलाके में राम मंदिर निर्माण को लेकर एक जागरुकता रैली निकाली गई थी। उस दौरान रिंकू का विवाद हो गया था। उस समय स्थानीय लोगों के हस्तक्षेप से मामला खत्म हो गया था। इसके बाद एक जन्मदिन पार्टी में रिंकू का आरोपितों से विवाद हुआ था। उसके बाद बुधवार की रात उसके घर में घुसकर हमला किया गया जिसमें रिंकू की जान चली गई.