उत्तराखंड में जिंदगी की जंग जारी, 18 की मौत, 28 लोग सुरक्षित बचाये गए, 202 की तलाश जारी

उत्तराखंड के चमोली जिले में कल ग्लेशियर टूटने से बड़ा हादसा हो गया. अलकनंदा और धौली गंगा उफान पर हैं। पानी के तेज बहाव में कई घरों के बहने की आशंका है। आस-पास के इलाके खाली कराए जा रहे हैं।

पहली सुरंग से लोगों को बचाया जा चुका है, अब दूसरी सुरंग में से मलवा हटाया जा रहा है. बताया जा रहा है कि इस सुरंग में 35 से 40 लोग फंसे हो सकते हैं…आईटीबीपी, सेना, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की संयुक्त टीम ने चमोली में तपोवन सुरंग में एंट्री कर ली है. ये टीम टनल को साफ करके राहत बचाव कार्य में लगी है. धौलीगंगा, ऋषिगंगा और तपोवन क्षेत्र में आई प्राकृतिक आपदा में आज दोपहर 12 बजे तक जिला प्रशासन चमोली द्वारा दी गई सूचना के मुताबिक अब तक 18 शव मलबे से निकाले जा चुके हैं और 202 लोग लापता बताए गए हैं।

NDRF, ITBP, सेना और स्थानीय पुलिस की टीमों की मदद से मलबे में दबे हुए 28 लोगों को अब तक जीवित निकाला गया है, जिनमें छह घायलों को जोशीमठ के अस्पताल में भर्ती किया गया है. 15 से ज्यादा प्रभावित गांव में सेना के हेलीकॉप्टर से खाद्य सामग्री गिराई जा रही है और इन गांवों में रसद पहुंचाई जा रही है।

loading...