चमोली: जिंदगी और मौत के बीच जंग जारी, रात में चल रहा रेस्क्यू मिशन, सुरंग में भेजा गया ड्रोन

उत्तराखंड के चमोली जिले में कल ग्लेशियर टूटने से बड़ा हादसा हो गया. अलकनंदा और धौली गंगा उफान पर हैं। पानी के तेज बहाव में कई घरों के बहने की आशंका है। आस-पास के इलाके खाली कराए जा रहे हैं। हरिद्वार तक अलर्ट जारी कर दिया है, पिछले तीन दिनों से सेना द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है, तपोवन में आज रात में भी रेस्क्यू ऑपरेशन किया जा रहा है.

चमोली जिले में स्थित तपोवन के पास सुरंग में फंसे मजदूरों को निकालने का काम तीसरे दिन भी जारी है। उत्तराखंड के DGP ने बताया कि अभीतक 29 शव बरामद किए जा चुके हैं। फिलहाल सुरंग में सांस ढूंढने की कवायद जारी है। ड्रोन की भी मदद ली जा रही है।

ऋषिगंगा में मारने वाले जिन लोगों की पहचान नहीं हो सकेगी, सरकार उनके डीएनए की जांच करवाएगी। इस डीएनए रिकार्ड को सुरक्षित रखा जाएगा, जिसके आधार पर मृतकों की शिनाख्त हो सकेगी। उत्तराखंड के ऋषिगंगा में आए बर्फीले तूफान के बाद मंगलवार शाम तक यहां 32 शव मलबे से निकाले जा चुके हैं। इनमें से अभी तक 25 शवों की शिनाख्त हो सकी है। 7 शव अभी भी अज्ञात हैं। तूफान में लापता हुए 174 अन्य व्यक्तियों की तलाश अभी जारी है।