पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर को लगा बड़ा झटका, पत्रकार प्रिया रमानी हुईं बरी

मीटू मामले में पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ पूर्व केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर की आपराधिक मानहानि की शिकायत के मामले में दिल्ली की अदालत द्वारा आज फैसला सुनाते हुए रमानी को आरोपमुक्त करते हुए बरी कर दिया है। कोर्ट ने अपने फैसले में ये भी कहा कि ‘किसी महिला को दशकों के बाद भी अपनी शिकायत रखने का अधिकार है.’ कोर्ट ने कहा कि ये देखा गया है कि सोशल स्टेटस वाला शख्स भी यौन उत्पीड़न करने वाला हो सकता है.

बता दें कि जर्नलिस्ट प्रिया रमानी ने #MeToo मूवमेंट के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री और पत्रकार एमजे अकबर पर सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप लगाए थे. अकबर ने इन आरोपों से इनकार करते हुए रमानी पर आपराधिक मानहानि का मुकदमा किया था. लेकिन अब इस मामलें में प्रिया बरी हो गई हैं. प्रिया रमानी ने 2018 में सोशल मीडिया पर चले ‘मीटू कैम्पेन’ के तहत अकबर के खिलाफ यौन दुर्व्यवहार के आरोप लगाए थे। हालांकि, अकबर ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है। अकबर ने 17 अक्टूबर 2018 को केंद्रीय मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था।

loading...